scorecardresearch
 

ट्रंप ने की कैपिटल हिंसा की निंदा, महाभियोग पर नहीं बोला एक भी शब्द

ट्रंप ने अपने वीडियो संदेश में कहा कि भीड़ की हिंसा हर उस चीज के खिलाफ है जिसमें मैं भरोसा करता हूं. मेरा सच्चा समर्थक कभी भी राजनीतिक हिंसा नहीं करेगा, कानूनों की धज्जियां नहीं उड़ाएगा. अगर आप ऐसा कुछ कर रहे हैं तो हमारे आंदोलन का समर्थन नहीं कर रहे हैं, आप हमारे देश पर हमला कर रहे हैं. हम इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते.

डोनाल्ड ट्रंप ने की हिंसा की निंदा (फाइल फोटो) डोनाल्ड ट्रंप ने की हिंसा की निंदा (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ट्रंप के खिलाफ दोबारा लाया गया महाभियोग प्रस्ताव
  • डोनाल्ड ट्रंप पर था समर्थकों को उकसाने का आरोप
  • डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह हिंसा के पक्ष में नहीं हैं

कैपिटल हिंसा मामले में अमेरिकी प्रतिनिधि सभा (निचले सदन) में बुधवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पास हुआ. वहीं, ट्रंप ने एक बार फिर दोहराया कि वह हिंसा के पक्ष में नहीं हैं. उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील भी की. खास बात यह रही कि इस दौरान ट्रंप ने महाभियोग को लेकर एक भी शब्द नहीं कहा.

ट्रंप ने अपने वीडियो संदेश में कहा कि भीड़ की हिंसा हर उस चीज के खिलाफ है जिसमें मैं भरोसा करता हूं. मेरा सच्चा समर्थक कभी भी राजनीतिक हिंसा नहीं करेगा, कानूनों की धज्जियां नहीं उड़ाएगा. अगर आप ऐसा कुछ कर रहे हैं तो हमारे आंदोलन का समर्थन नहीं कर रहे हैं, आप हमारे देश पर हमला कर रहे हैं. हम इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते.

ट्रंप ने आगे कहा, "हमने राजनीतिक हिंसा को काबू से बाहर जाते देखा है, हमने कई दंगे देखे हैं, भीड़, तोड़फोड़ की कार्रवाई देखी है. ये रुकना चाहिए. चाहे आप दाईं तरफ हों या बाईं तरफ हों, डेमोक्रेट हों या रिपब्लिकन, हिंसा का समर्थन नहीं किया जा सकता है."

देखें: आजतक LIVE TV

ट्रंप ने अपनी बात जारी रखते हुए आगे कहा, "कोई बहाना नहीं, कोई अपवाद नहीं, अमेरिका कानूनों का देश है. पिछले हफ्ते जिन्होंने हमला किया उन्हें कानून की जद में लाया जाएगा. मैंने फेडरल एजेंसी को कानून का पालन कराने के लिए जरूरी कदम उठाने को कहा है. हम वाशिंगटन डीसी में हजारों नेशनल गार्ड्स को ला रहे हैं ताकि यहां की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके."

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें