scorecardresearch
 

पीएम मोदी और इजरायल को लेकर इमरान खान ने किया ऐसा दावा, बुरी तरह हुए ट्रोल

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने एक हालिया इंटरव्यू के बाद से ही चर्चा में चल रहे हैं. मिडिल ईस्ट आई को दिए इस इंटरव्यू में उन्होंने चीन-पाकिस्तान दोस्ती, अमेरिका-पाकिस्तान तनाव, भारत-इजरायल के घनिष्ठ संबंधों, अफगानिस्तान के हालातों और बीसीसीआई के विश्व क्रिकेट में बढ़ते दबदबे को लेकर खुलकर बात की है. हालांकि वे भारत और इजरायल के बारे में कही बातों के बाद से ही सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं. 

इमरान खान फोटो क्रेडिट: getty images इमरान खान फोटो क्रेडिट: getty images
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इजरायल-भारत को लेकर दिए बयान पर ट्रोल हुए इमरान खान
  • इमरान खान ने अपने हालिया इंटरव्यू में कई मुद्दों पर रखी राय

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने एक हालिया इंटरव्यू के बाद से ही चर्चा में चल रहे हैं. मिडिल ईस्ट आई को दिए इस इंटरव्यू में उन्होंने चीन-पाकिस्तान दोस्ती, अमेरिका-पाकिस्तान तनाव, भारत-इजरायल के घनिष्ठ संबंधों, अफगानिस्तान के हालात और बीसीसीआई के विश्व क्रिकेट में बढ़ते दबदबे को लेकर खुलकर बात की है. हालांकि, भारत और इजरायल को लेकर किए गए एक दावे को लेकर इमरान खान सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं. 

दरअसल अगस्त 2019 में जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देनेवाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्म करने का फैसला मोदी सरकार द्वारा लिया गया था. इस फैसले का पाकिस्तान ने पुरजोर विरोध किया था और संयुक्त राष्ट्र में भी इस फैसले को लेकर पाकिस्तान ने कड़ी आपत्ति जताई थी. इमरान खान ने अब अपने इंटरव्यू में कहा कि पीएम मोदी के इजरायल के दौरे के तुरंत बाद ही उन्होंने कश्मीर में आर्टिकल 370 को हटाने का फैसला लिया था. उन्होंने कहा कि भारत इजरायल से ही प्रेरणा ले रहा है. इमरान के इस बयान के बाद ही वे सोशल मीडिया पर ट्रोल होने लगे. दरअसल, प्रधानमंत्री मोदी ने जुलाई 2017 में इजरायल का दौरा किया था यानी इस दौरे के पूरे दो साल बाद कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने का फैसला किया गया.

इमरान से इंटरव्यू में सवाल किया गया था कि फिलीस्तीन और कश्मीर की स्थिति मिलती-जुलती है, ऐसे में भारत और इजरायल की दोस्ती कितनी खतरनाक है? इस सवाल पर इमरान खान ने कहा कि इसमें दो राय नहीं कि भारत-इजरायल काफी करीब हैं. इजरायल की यात्रा के तुरंत बाद ही भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीर को लेकर इतनी बड़ी नीति लागू की थी. इसका ये मतलब निकाल सकते हैं कि उन्हें इसका इशारा इजरायल से मिला था क्योंकि इजरायल भी कुछ ऐसा ही कर रहा है. उन्होंने एक मजबूत तंत्र बनाया हुआ है और वे किसी भी तरह के विरोध को कुचल रहे हैं. चीन के खिलाफ अमेरिका के गठबंधन का हिस्सा होने की वजह से भारत को भी अब लगने लगा है कि उनके पास इजरायल जैसी ही इम्युनिटी (सुरक्षा कवच) है और वे भी कुछ भी कर सकते हैं.

अपने बयान को लेकर ट्रोल होने लगे इमरान खान

इमरान अपने इस बयान को लेकर सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं. एक ट्विटर यूजर ने अपने ट्वीट में लिखा कि पीएम मोदी जुलाई 2017 में इजरायल का दौरा करने गए थे और आर्टिकल 370 अगस्त 2019 में हटाया गया था. इमरान खान के लिए 25 महीनों का इतिहास 'तुरंत' माना जाता है. वे एक अलग ही तरह का इतिहास लिखने के आदी हो चुके हैं.

वहीं, इस ट्वीट के कमेंट में एक शख्स का कहना था कि इमरान खान को लेकर टेंशन नहीं लेनी चाहिए. वे पाकिस्तानी मिलिट्री अफसर बाजवा से बातचीत के बाद एक और यू-टर्न ले लेंगे. ईमानदारी से कहूं तो वे पाकिस्तानी क्रिकेट टीम का कोच बनना ज्यादा डिजर्व करते हैं लेकिन कोई उनकी सुनने को तैयार ही नहीं है. 


इसके अलावा एक ट्विटर यूजर ने लिखा कि अब इमरान खान कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के लिए इजरायल पर इल्जाम लगा रहे हैं. इस इंसान के साथ कुछ बेहद गंभीर समस्या है. वहीं एक और ट्विटर यूजर ने लिखा कि पाकिस्तान के दो सबसे खास दुश्मन इजरायल और भारत हैं और वे इनके खिलाफ चीजों को अपने हिसाब से बदलते रहते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें