scorecardresearch
 

श्रीलंका में भयानक हिंसा, महिंदा राजपक्षे के पैतृक घर को भीड़ ने फूंक डाला

हंबनटोटा में राजपक्षे परिवार के पैतृक घर 'मेदामुलाना वालवा' में प्रदर्शनकारियों ने आग लगा दी. आग से घर पूरी तरह जल गया. घटना के वीडियो वायरल हो रहे हैं.

X
श्रीलंका में महिंदा राजपक्षे के पैतृक घर में आग लगा दी गई. श्रीलंका में महिंदा राजपक्षे के पैतृक घर में आग लगा दी गई.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राजपक्षे ने आज ही PM पद से इस्तीफा दिया है
  • श्रीलंका में हिंसक होती जा रही है भीड़

आर्थिक संकट से जूझ रहा श्रीलंका अब हिंसा की चपेट में आता देखा जा रहा है. सोमवार को प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के इस्तीफा के बाद भी भीड़ की नाराजगी कम होती नहीं देखी जा रही है. हिंसक भीड़ ने महिंदा राजपक्षे के पूर्वजों के घर को आग लगाकर फूंक डाला.

हंबनटोटा में राजपक्षे परिवार के पैतृक घर 'मेदामुलाना वालवा' में प्रदर्शनकारियों ने आग लगा दी. आग से घर पूरी तरह जल गया. घटना के वीडियो वायरल हो रहे हैं. इसमें घर के अंदर आग लगी देखी जा रही है. इसके अलावा, नेगोंबो में एवेनरा गार्डन होटल हमले में एक लेम्बोर्गिनी समेत कई वाहन जला दिए गए.


डेली मिरर की रिपोर्ट के अनुसार, वीडियो फुटेज में दिखाया जा रहा है कि हंबनटोटा शहर के मेदामुलाना में प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे और उनके छोटे भाई और राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे का पूरा घर जल रहा है. वहीं, कुरुनेगला में भी प्रदर्शनकारियों ने महिंदा राजपक्षे के घर में आग लगा दी थी. भीड़ ने डीए राजपक्षे मेमोरियल को ध्वस्त कर दिया है. ये महिंदा और गोटाबाया के पिता की स्मृति में मेदामुलाना में बना था.

इससे पहले महिंदा राजपक्षे के समर्थकों ने कोलंबो में मैना गोगामा और गोटा गोगामा में सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों पर हमला किया था. प्रदर्शनकारियों ने सत्तारूढ़ गठबंधन के मंत्रियों और सांसदों की कई संपत्तियों को नष्ट कर दिया है.उग्र भीड़ ने माउंट लवीनिया इलाके में पूर्व मंत्री जॉनसन फर्नांडो के घर में आग लगा दी थी. श्रीलंकाई मीडिया ने यह भी बताया कि श्रीलंकाई प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास टेंपल ट्रीज के पिछले गेट के पास आग लग गई थी. रिपोर्ट में कहा गया है कि पुलिस ने वाटर कैनन बुलाई है लेकिन सरकार विरोधी प्रदर्शनकारी वाहनों पर हमला कर रहे हैं.

प्रदर्शनकारियों ने बादुल्ला जिला सांसद तिस्सा कुटियाराच के घर पर भी हमला किया और बाद में आग लगा दी. पुट्टलम के सांसद सनथ निशांत का घर आगजनी के कारण पूरी तरह से तबाह हो गया. आगजनी हमले तब हुए, जब कोलंबो में महिंदा राजपक्षे समर्थकों और सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़पों के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया था.

बता दें कि श्रीलंका में पिछले महीने से बढ़ती कीमतों और बिजली कटौती को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. 1948 में ब्रिटेन से आजादी मिलने के बाद से श्रीलंका अपने सबसे खराब आर्थिक संकट का सामना कर रहा है.

गाले फेस में झड़पों में 154 लोग घायल

गाले में शिक्षा मंत्री रमेश पथिराना के घर किथुलमपिटिया में कथित तौर पर आग लगा दी गई. प्रदर्शनकारियों ने पूर्व मंत्री जॉनसन फर्नांडो के माउंट लाविनिया स्थित आवास पर हमला किया. गाले फेस में हुईं झड़पों में अब तक 154 लोग घायल हो गए हैं. राजधानी में हुई हिंसा में सत्ताधारी पार्टी के एक सांसद समेत तीन लोगों की मौत हो गई और 150 से ज्यादा लोग घायल हो गए.

कुरुनेगला में मेयर के घर पर हमला

इतना ही नहीं, कुरुनेगला के मेयर के आवास पर हमला किया गया है. लोगों ने कथित तौर पर नेगोंबो में पूर्व राज्य मंत्री निमल लांजा के घर में आग लगा दी है. निट्टंबुवा में गोलीबारी की घटना में घायल हुए 3 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, एक व्यक्ति की हालत गंभीर बताई जा रही है.

प्रधानमंत्री राजपक्षे ने दिया है इस्तीफा

बता दें कि श्रीलंका में प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के अलावा स्वास्थ्य मंत्री ने पद से इस्तीफा दे दिया है. राजपक्षे की तरफ से एक बयान में कहा गया कि वे हर बलिदान के तैयार हैं. उन्होंने कहा कि मैं आम जनता से संयम बरतने का आग्रह करता हूं कि हिंसा केवल हिंसा को जन्म देती है. जिस आर्थिक संकट में हम हैं, उसे एक ऐसे आर्थिक समाधान की आवश्यकता है जिसे हल करने के लिए यह प्रशासन प्रतिबद्ध है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें