scorecardresearch
 

शार्क का आधा शरीर कट चुका था, फिर भी करती रही शिकार की कोशिश!

स्पेन के एक वैज्ञानिक ने ऐसा अनोखा नजारा अपने कैमरे में कैद किया है, जिसमें एक शार्क घायल अवस्था में भी अपने लिए शिकार ढूंढ रही है. उसके शरीर का आधा हिस्सा कटा हुआ है और शरीर से खून भी निकल रहा है.

Credit - Dr Mario Lebrato Credit - Dr Mario Lebrato
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आधे कटे शरीर के साथ समुद्र में तैर रही थी शार्क
  • मछलियों का शिकार करने की कर रही थी कोशिश

एक स्पैनिश वैज्ञानिक ने समुद्र के अंदर एक बेहद अनोखे नजारे को अपने कैमरे में कैद किया है. इसमें देखा जा सकता है कि कैसे एक घायल शार्क समुद्र में अपने लिए शिकार ढूंढ रही है. उसकी हालत बेहद नाजुक है. शरीर का आधा हिस्सा कटा हुआ है और शरीर से खून भी निकल रहा है.

35 वर्षीय वैज्ञानिक डॉ. मारियो लेब्रेटो ने बताया कि ये वीडियो स्पेन के एक तट का है. वह समुद्र में तैर रहे थे और उसकी सतह से जब एक से दो मीटर नीचे गए तो उन्होंने इस नजारे को देखा. 

उन्होंने बताया कि उस शार्क को देखकर ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने उसका शिकार करने की कोशिश की हो. या फिर किसी बड़ी मछली ने हमले में उसे घायल कर दिया होगा. क्योंकि उसके शरीर का एक हिस्सा बिल्कुल ही गायब था. जैसे किसी ने उस हिस्से को खा लिया हो. वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे वह पानी में इधर-उधर भटक रही है और उसके शरीर से बेहिसाब खून भी निकल रहा है.

वैज्ञानिक के मुताबिक, शार्क की हालत थोड़ी देर बाद खराब होती गई और ऐसा लग रहा था मानो वह थक सी गई हो. लेकिन फिर भी वह 20 मिनट तक यूं ही अपने शिकार को तलाशती रही. उस दौरान उसने कुछ मछलियों को पकड़ने की कोशिश भी की. लेकिन नाकाम रही. जबकि उसके पास से ही कई छोटी मछलियां गुजर भी रही थीं.

बता दें, एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि समुद्र में बहुत ज्‍यादा मछली पकड़े जाने से शार्क मछलियां हमेशा के लिए खत्‍म हो सकती हैं. इस रिसर्च के मुताबिक पिछले 50 सालों में 70 प्रतिशत शार्क मछलियां खत्म हो गईं.  वैज्ञानिकों ने एक स्टडी में पाया कि साल 1970 के बाद से शार्क और रे मछलियों की जनसंख्‍या में 71 फीसदी की गिरावट आई है. 

कनाडा के स‍िमोन फ्रासेर यूनिवर्सिटी और ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी ऑफ एक्‍सटेर के वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया कि वर्ष 1970 से अब तक मछली पकड़ने पर दबाव 18 गुना बढ़ गया है जिसके चलते समुद्र के इको सिस्‍टम पर प्रभाव पड़ा है और कई जीव बड़े पैमाने पर विलुप्‍त हो रहे हैं. वैज्ञानिकों का मानना है कि शार्क और रे मछलियों को बचाने के लिए जल्द कदम उठाए जाने की जरूरत है. समुद्री मामलों के विशेषज्ञ डॉक्‍टर रिचर्ड शेर्ले ने कहा क‍ि अगर अभी कदम नहीं उठाए गए तो हालात काफी ज्यादा खतरनाक हो सकते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×