पूर्व IPS अधिकारी संजीव भट्ट की सजा के खिलाफ पत्नी श्वेता भट्ट ने निकाला कैंडल मार्च

20 जून को गुजरात सरकार के निष्काषित IPS अफसर संजीव भट्ट को आजीवन कारावास की सजा सुनाए गई थी, जिसके बाद देश की IPS लॉबी में सन्नाटा छा गया था.

संजीव भट्ट के घर के बाहर जुटे समर्थक (फोटो- गोपी घांघर)
गोपी घांघर
  • अहमदाबाद,
  • 15 जुलाई 2019,
  • अपडेटेड 11:53 PM IST

गुजरात सरकार के पूर्व निष्काषित IPS संजीव भट्ट को हाल ही में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है. संजीव भट्ट को सुनाई गई सजा के विरोध में सोमवार को उनके समर्थकों ने घर के बाहर कैंडल मार्च का आयोजन किया. इस दौरान समर्थकों ने उन्हें निर्दोष बताया.

दरअसल, 20 जून को गुजरात सरकार के निष्काषित IPS अफसर संजीव भट्ट को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी, जिसके बाद देश की IPS लॉबी में सन्नाटा छा गया था. सोमवार को अहमदाबाद में उनके घर के बाहर समर्थकों ने कैंडल मार्च का आयोजन किया.

पुलिस की ओर से मंजूरी न मिलने की वजह से समर्थक मार्च सड़क पर नहीं निकाल सके. ऐसे में संजीव भट्ट के समर्थक उनके घर के बाहर बड़ी तादाद में हाजिर रहे. समर्थकों के हाथ में जस्टिस फॉर संजीव भट्ट लिखा पोस्टर था.

संजीव भट्ट की पत्नी श्वेता भट्ट ने कहा कि ये लोगों का समर्थन है और पूरा देश उनके साथ है. संजीव भट्ट के साथ अन्याय हुआ है और कोर्ट के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में जाएंगे और न्यायिक लड़ाई जारी रहेगी. उन्हें भरोसा है कि सच की जीत होगी. साथ ही श्वेता भट्ट ने वर्तमान सरकार पर भी आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने जबरन आजीवन कारावास की सजा संजीव भट्ट पर थोपी है.

Read more!

RECOMMENDED