चक्काजाम की कहानियां: बीच सड़क पर उतारा, धक्कामुक्की, रो पड़ा बुजुर्ग कपल

पुणे जाने के लिए निजामुद्दीन स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने वाला एक बुजुर्ग कपल फूट फूट कर रो पड़ा. इनका कहना है कि बीच रास्ते उन्हें टैक्सी से उतार दिया गया और वहां से यह पैदल आ रहे हैं.

धक्कामुक्की के बाद फूट-फूट रोतीं बुजुर्ग महिला
अंकित यादव/सुशांत मेहरा
  • नई दिल्ली,
  • 19 सितंबर 2019,
  • अपडेटेड 10:44 AM IST

  • नए मोटर व्हीकल एक्ट के खिलाफ सड़क पर उतरे ऑटो-टैक्सी यूनियन
  • यूनियन का आरोप कि जुर्माने की राशि काफी ज्यादा है, सरकार कम करे

दिल्ली में ट्रांसपोर्टर्स की हड़ताल से मुसाफिर बेहद परेशान हैं. ऑटो चालकों को रोका जा रहा है. हड़ताली टैक्सी वाले मनमानी कर रहे हैं. कुछ लोगों को पुलिस ने पकड़ा भी है, जो सवारियों को जबरन ऑटो टैक्सी से उतार रहे थे. मुसाफिरों को भारी दिक्कत हो रही है.

इस बीच पुणे जाने के लिए निजामुद्दीन स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने वाला एक बुजुर्ग कपल फूट फूट कर रो पड़ा. इनका कहना था कि बीच रास्ते उन्हें टैक्सी से उतार दिया गया और वहां से पैदल आना पड़ा. कपल ने आरोप लगाया इस धक्का-मुक्की में 75 वर्षीय बुजुर्ग की सिर में चोट भी लगी है.

पैदल चल पड़े दफ्तर

मध्य प्रदेश से 50 की संख्या में मुसाफिर, जो दिल्ली में प्रगति मैदान में एक्सपो में हिस्सा लेने आए थे, अब टैक्सी न मिलने की वजह से बेहद परेशान दिखे. ट्रांसपोर्टर्स की हड़ताल से लोग दफ्तरों के लिए पैदल जाने को मजबूर हैं.

सामान बेचकर भर रहे चालान

बता दें, न्यू मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद से ही लगातार दिल्ली एनसीआर के ऑटो टैक्सी यूनियन विरोध कर रहे हैं. यूनियन का कहना है कि केंद्र सरकार ने यह एक्ट लागू तो कर दिया लेकिन उसकी आड़ में ट्रैफिक पुलिसकर्मी बेधड़क अनाप-शनाप ऑटो-टैक्सी वालों के चालान काट रहे हैं. इसके चलते ऑटो-टैक्सी वालों को अपने घरों का सामान बेचकर चालान भरना पड़ रहा है.

Read more!

RECOMMENDED