गया रोडरेज केस: कुर्सी बचाने के लिए MLC ने कराई बेटे की गिरफ्तारी

एमएलसी मनोरमा देवी चाहती थीं कि रॉकी का कोर्ट में सरेंडर हो, लेकिन पुलिस का दबाव था कि बेटे को हवाले करो या जेल जाने को तैयार रहो.

ब्रजेश मिश्र/कुमार अभिषेक
  • गया,
  • 10 मई 2016,
  • अपडेटेड 1:33 PM IST

बिहार के गया में रोडरेज के दौरान एक युवक की हत्या करने वाले रॉकी यादव को पुलिस ने देर रात गिरफ्तार कर लिया. इस गिरफ्तारी के पीछे भी ड्रामा हाई प्रोफाइल है. बेटे को बचाने में जुटी एमएलसी को जब कुर्सी छिनने का डर सताया तो उन्होंने बेटे का सुराग दे दिया.

सूत्रों के मुताबिक, एमएलसी मनोरमा देवी चाहती थीं कि रॉकी का कोर्ट में सरेंडर हो, लेकिन पुलिस का दबाव था कि बेटे को हवाले करो या जेल जाने को तैयार रहो. जिसके बाद देर रात करीब दो बजे रॉकी यादव को पुलिस ने बोधगया से गिरफ्तार किया और डेल्हा थाना ले गई.

मनोरमा देवी से घंटों हुई पूछताछ पुलिस सूत्रों के मुताबिक ये गिरफ्तारी बिंदी यादव के बोधगया के हॉट मिक्सर प्लांट से हुई है. इस गिरफ्तारी में रॉकी की मां और जेडीयू एमएलसी मनोरमा देवी अहम कड़ी साबित हुई. सोमवार शाम गया पुलिस की एसआईटी ने मनोरमा देवी से घंटों पूछताछ की जिसमें रॉकी का सुराग मिला.

जब एमएलसी पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार... पुलिस को मालूम था कि रॉकी अपनी मां के संपर्क में है और मनोरमा देवी ही उसका पता बता सकती हैं. ऐसे में पुलिस ने जब दबाव बनाया तो मनोरमा देवी ने उसके सरेंडर की डील करनी चाही लेकिन जब खुद बेटे को छुपाने और साक्ष्य मिटाने के आरोप में मनोरमा देवी पर गिरफ्तारी की तलवार लटकने लगी तो बेटे को पुलिस के हवाले कर दिया.

सामने आ गया झूठ रॉकी की गिरफ्तारी के बाद जेडीयू एमएलसी को वो झूठ भी सामने आ गया जिसमें वो लगातार कह रही थीं कि उनका बेटा तो गया में है ही नहीं. फिलहाल गिरफ्तारी और हथियार बरामदगी की खबर ने नीतीश सरकार को थोड़ी राहत जरूर दी होगी.

Read more!

RECOMMENDED