फैक्ट चेक: वायरल ‘कात्यायनी मंत्र’ के लिए PM नरेंद्र मोदी ने नहीं दी अपनी आवाज

सोशल मीडिया पर संस्कृत के एक मधुर मंत्र की ऑडियो क्लिप को इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गाया है. इंडिया टुडे फैक्ट चेक टीम ने पड़ताल कर जानी इसकी हकीकत.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(फाइल फोटो)
राहुल झारिया/खुशदीप सहगल
  • नई दिल्ली,
  • 07 जनवरी 2019,
  • अपडेटेड 9:51 PM IST

सोशल मीडिया पर संस्कृत के एक मधुर मंत्र की ऑडियो क्लिप शेयर की जा रही है. जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे गाया है. व्हाट्सअप और फेसबुक पर यूजर्स की ओर से इस क्लिप को इस संदेश के साथ शेयर किया जा रहा है- कात्यायिनी मंत्र जो माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने गाया है.' 'कभी सोचा भी नहीं कि प्रधानमंत्री के पास इतनी प्रभावशाली आवाज है.'

आर्काइव्ड पोस्ट को यहां देखा जा सकता है 

इंडिया टुडे फैक्ट चेक ने पाया कि इस तरह के दावे झूठे हैं. इस वायरल कात्यायिनी मंत्र को ऑल इंडिया रेडियो (AIR) कलाकार जितेंद्र सिंह ने गाया है ना कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने. झूठे दावे वाला ये संदेश सोशल मीडिया पर एक महीने से भी ज्यादा से वायरल है.

हमने पाया कि बीते साल नवरात्रि समारोह के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल @narendramodi पर ऑडियो क्लिप को सामान्य प्रार्थना के संदेश के साथ ट्वीट किया था. ट्वीट में कहीं गायक के नाम का जिक्र नहीं था. समान समयावधि और समान गाने को ऑल इंडिया रेडियो के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल ने 25 सितंबर 2017 को ‘माता कात्यायनी स्तुति’ वीडियो  अपलोड किया. इसमें कलाकार का नाम जितेंद्र सिंह दिया गया.

जब इंडिया टुडे ने जितेंद्र सिंह से बात की तो उन्होंने 2017 में AIR के लिए कात्यायनी मंत्र गाने की बात की पुष्टि की.

वेबपोर्टल क्विंट ने भी वायरल वीडियो के बारे में रिपोर्ट प्रकाशित की.

इससे पहले इंडिया टुडे ने सितंबर 2017 में रिपोर्ट किया था कि प्रधानमंत्री मोदी के विशेष आग्रह पर AIR ने ‘नवदुर्गास्तोत्र’ का संकलन तैयार किया. इसमें के वागीश, राधिका चोपड़ा, विधि शर्मा, नरेश मल्होत्रा और जितेंद्र सिंह जैसे गायकों को नवरात्रि पर नौ अलग गानों के लिए लाया गया.

Read more!

RECOMMENDED