इनकी वजह से देख पा रहे हैं फिल्में, गूगल ने बनाया डूडल

वो आविष्कारक जिन्होंने दिया सिनेमा को जन्म. जानें- उनके बारे में

Joseph Plateau Belgium
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 14 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 12:10 PM IST

  • दुनिया को चलती तस्वीरों का तोहफा देने वाले थे महान भौतिकशास्त्री का बना डूडल
  • इनकी वजह से हुआ सिनेमा का जन्म, किए थे ये आविष्कार

सर्च इंजन गूगल ने बेल्जियम के भौतिकशास्त्री जोसेफ एंटोनी फर्डिनेंड प्लेटू को सम्मानित किया है. आज उनका 218 जन्मदिन है. जोसेफ ने फेनाकिस्टिस्कोप का आविष्कार किया था. ये एक ऐसा  आविष्कार था जिसका इस्तेमाल फिल्मों में एनीमेशन लाने के लिए किया जाता था.एक प्रकार का एनीमेशन डिवाइस के कारण इसका इस्तेमाल सबसे पहले मोशन पिक्चर के लिए किया गया था. आज इसी तकनीक के कारण आज फिल्मों की दुनिया में शानदार फिल्मों का निर्माण हो रहा है. जिसकी वजह से सिनेमा का जन्म हुआ.

जोसेफ एंटोनी की रिसर्च इस बात पर आधारित की थी कैसे हमारी आंखों के रेटिना पर कोई प्रतिबिंब या चित्र कितनी देर तक टिका रहता है. हमारी आंखें कैसे उसका रंग और गहराई समझ पाती हैं. बता दें, जोसेफ के आंखों की रोशनी चली गई थी. उन्हें दिखाई नहीं देता था लेकिन बावजूद उन्होंने विज्ञान के क्षेत्र में अपना काम जारी रखा.

1832 में उन्होंने एक स्ट्रोबोस्कोपिक उपकरण बनाया जिसमें 2 डिस्क विपरीत दिशाओं में घूमती थीं. पहली डिस्क में एक सर्कल में छोटी विंडो थीं, और दूसरी डिस्क में एक सीरिज में एक डांसर की तस्वीरें थीं.

पढ़ाई

जोसेफ एंटोनी फर्डिनेंड पठार का जन्म 14 अक्टूबर 1801 को बेल्जियम के ब्रसेल्स में हुआ था. उन्होंने डॉक्टर ऑफ फिजिकल और मैथेमिटकल साइंस ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की. जोसेफ ने 1827 में ब्रसेल्स में गणित पढ़ाया. बाद में 1835 में जोसेफ गेंट विश्वविद्यालय में भौतिकी के प्रोफेसर नियुक्त हुए.

Read more!

RECOMMENDED