वॉट्सएप ग्रुप से हटाया तो एडमिन पर किया जानलेवा हमला

वॉट्सएप ग्रुप से हटाने पर महाराष्ट्र के अहमदनगर कृषि कॉलेज के छात्र चैतन्य शिवाजी भोर पर तेजधार हथियार से जानलेवा हमला कर दिया गया. दरअसल, शिवाजी ने वॉट्सएप ग्रुप से उसके कॉलेज के ही एक अन्य छात्र सचिन गडख को हटा दिया था. उसी ने अपने साथियों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दे डाला.

पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है
परवेज़ सागर
  • अहमदनगर,
  • 23 मई 2018,
  • अपडेटेड 12:32 AM IST

वॉट्सएप ग्रुप से हटाने पर महाराष्ट्र के अहमदनगर कृषि कॉलेज के छात्र चैतन्य शिवाजी भोर पर तेजधार हथियार से जानलेवा हमला कर दिया गया. दरअसल, शिवाजी ने वॉट्सएप ग्रुप से उसके कॉलेज के ही एक अन्य छात्र सचिन गडख को हटा दिया था. उसी ने अपने साथियों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दे डाला.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक अहमदनगर कृषि कॉलेज के छात्रों ने एक वॉट्सएप ग्रुप बना रखा था, जिसमें वे कॉलेज की गतिविधियों और अपने काम लेकर चर्चा करते हैं. लेकिन आरोपी हमलावर सचिन गडख कालेज का एक पूर्व छात्र है और अब कॉलेज का हिस्सा नहीं है.

इसलिए भोर ने कॉलेज वॉट्सएप समूह से गडख को हटा दिया था. लेकिन, गडख को यह बात नागवार गुजरी और उसने चैतन्य से बदला लेने की ठान ली. इसके बाद उसने अपने 3 अन्य साथियों के साथ मिलकर अचानक 18 वर्षीय भोर पर तेजधार हथियारों से हमला कर दिया.

इस हमले में वह भोर गंभीर रूप से घायल हो गया. पुलिस के मुताबिक यह वारदात बीती 17 मई को अहमदनगर-मनमाड रोड पर उस वक्त हुई, जब चैतन्य शिवाजी भोर मैस की तरफ जा रहा था. घटना को अंजाम देकर सभी आरोपी मौके से भाग निकले.

भोर को गंभीर हालत में अहमदनगर के पास एक अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे पुणे के दूसरे अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया है. पुलिस ने इस संबंध में सचिन गडख, आमोल गडख और दो अन्य लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 और आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है. आरोपियों की तलाश की जा रही है.

Read more!

RECOMMENDED