मासूम से रेप, सुसाइड का ड्रामा और फिर ऐसे पकड़ा गया शातिर बदमाश

पुलिस की पकड़ में आया बदमाश दलपत सिंह बहुत ही शातिर किस्म का अपराधी है. दरअसल, बीती 6 अगस्त की देर शाम को दलपत ने 6 वर्ष की मासूम को अपनी हवस का शिकार बनाया था. उसने बच्ची के साथ हद दर्जे की दरिंदगी की थी.

पुलिस ने दलपत की गिरफ्तारी पर 50 हजार का इनाम रखा था
aajtak.in/परवेज़ सागर
  • हापुड़,
  • 14 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 8:29 PM IST

  • काम नहीं आई शातिर बदमाश की चालाकी
  • एनकाउंटर में पुलिस के हत्थे चढ़ा
  • बदमाश के पैर में लगी है गोली

यूपी के हापुड़ में 6 साल की मासूम बच्ची के साथ दरिंदगी करने वाला आरोपी दलपत एक मुठभेड़ के दौरान पुलिस के हत्थे चढ़ गया. आरोप है कि गिरफ्तारी के वक्त वह एक दरोगा से पिस्टल छीन कर भाग रहा था. उसने भागते वक्त पुलिस पर फायरिंग भी की. जवाबी कार्रवाई में वह पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया. पुलिस ने उसे मौके से गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने उस पर 50 हजार का इनाम घोषित कर रखा था.

पुलिस की पकड़ में आया बदमाश दलपत सिंह बहुत ही शातिर किस्म का अपराधी है. दरअसल, बीती 6 अगस्त की देर शाम को दलपत ने 6 वर्ष की मासूम बच्ची को बहला फुसला कर अपनी हवस का शिकार बनाया था. उसने बच्ची के साथ हद दर्जे की दरिंदगी की थी. वारदात के करीब 12 घंटे के बाद बच्ची गंभीर अवस्था में एक सुनसान इलाके में मिली थी.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्लिक करें

पुलिस उसी दिन से आरोपी की तलाश कर रही थी. उसकी गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपये का इनाम भी रखा गया था. इसी दौरान शातिर बदमाश दलपत ने पुलिस को चकमा देने के लिए एक चाल चली. उसने अपने कपड़े और एक सुसाइड नोट गंगा नदी के किनारे छोड़ दिया और फरार हो गया. जब हापुड़ पुलिस को उसके कपड़े और सुसाइड नोट बरामद हुए तो गंगा नदी में उसकी लाश तलाश करने के मकसद से सर्च ऑपरेशन चलाया गया.

गोताखोरों ने उसकी लाश तलाश करने के लिए कई बार कोशिश की लेकिन कुछ हासिल नहीं हुआ. हालांकि पुलिस को बरामद हुए उसके कपड़ों से मिले सुसाइड नोट में शातिर बदमाश ने लिखा था कि वह पुलिस एनकाउंटर में नहीं मरना चाहता, इसलिए खुदकुशी कर रहा है. अपनी चालबाज़ी दिखाने के बाद उसने कभी सोचा भी नहीं था कि वह एक दिन पकड़ा जाएगा. मगर किस्मत के लिखे को कोई बदल नहीं सकता.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

पुलिस ने दलपत की लाश बरामद करने के लिए काफी कोशिश की लेकिन वे कामयाब नहीं हो सके. जब दलपत का शव नहीं मिला तो पुलिस रुकी नहीं, बल्कि उसकी तलाश करती रही और आखिरकार पुलिस उस शातिर बदमाश को ढूंढ निकाला. पुलिस ने गढ़मुक्तेश्वर इलाके से वॉन्टेड अपराधी दलपत को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस का कहना है कि जब उसे गिरफ्तार कर जिला मुख्यालय लाया जा रहा था, तो अचानक दलपत ने एक सब इंस्पेक्टर से उसकी रिवाल्वर छीन ली और पुलिस पर फायरिंग करता हुआ भागने लगा.

पुलिस ने भी जबावी कार्रवाई करते हुए फायरिंग की. इस दौरान आरोपी दलपत के पैरों में गोली लगी और वह मौके पर ही गिर पड़ा. पुलिस ने फौरन उसे गिरफ्तार कर लिया. घायल बदमाश लेकर पुलिस अस्पताल पहुंची और उसे भर्ती कराया. शातिर बदमाश का इलाज करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि आरोपी खतरे से बाहर है, लेकिन उसके पैर खराब हो सकते हैं.

बताते चलें कि हापुड़ में सनसनीखेज वारदात को अंजाम देकर फरार होने वाले दलपत सिंह की तलाश में अमरोहा जिले के महमूदपुर गांव के जंगलों में पुलिस और ग्रामीणों मिलकर कांबिंग कर रहे थे. लेकिन तब आरोपी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था. कांबिंग के दौरान डॉग स्क्वायड से लेकर तमाम आधुनिक तरीके अपनाए गए थे. जानकारी के मुताबिक बच्ची के साथ हैवानियत करके आरोपी अपने ही गांव में छुप गया था. वहां से वो भागकर जंगल में जाकर छिप गया था.

Read more!

RECOMMENDED