दिल्ली पुलिस ने पकड़ा हथियारों का जखीरा, 3 तस्कर गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने अवैध हथियारों के एक बड़े गैंग का पर्दाफाश किया है. यह गैंग पिछले तीन सालों से दिल्ली और आसपास के इलाकों में अवैध हथियार सप्लाई कर रहा था. अभी तक करीब 500 से ज्यादा हथियार इस गैंग ने दिल्ली एनसीआर में खपा दिए हैं.

पुलिस पकड़े गए सभी आरोपियों से पूछताछ कर रही है
परवेज़ सागर/हिमांशु मिश्रा
  • नई दिल्ली,
  • 26 अक्टूबर 2017,
  • अपडेटेड 7:20 PM IST

दिल्ली पुलिस ने अवैध हथियारों के एक बड़े गैंग का पर्दाफाश किया है. यह गैंग पिछले तीन सालों से दिल्ली और आसपास के इलाकों में अवैध हथियार सप्लाई कर रहा था. अभी तक करीब 500 से ज्यादा हथियार इस गैंग ने दिल्ली एनसीआर में खपा दिए हैं.

दिल्ली पुलिस इस गैंग के पीछे पिछले तीन सालों से लगी थी. ये गैंग बड़े ही शातिराना तरीके से हथियारों की तस्करी करता था. इसकी वजह से ये पुलिस की पकड़ से बचता रहा. गैंग से जुड़े तस्कर मध्य प्रदेश के खरगौन से अवैध हथियार खरीद कर लाते थे और उन्हें दिल्ली और एनसीआर में बेच देते थे.

तीन दिन पहले पुलिस को खबर लगी कि इस गैंग के सदस्य उत्तर पूर्वी दिल्ली के यमुना नगर इलाके में अवैध हथियार की सप्लाई करने वाले हैं. इस बात की जानकारी मिलते ही स्पेशल सेल ने यमुना नगर के आसपास अपनी टीम को तैनात कर दिया.

बुधवार की सुबह पुलिस ने एक टवेरा गाड़ी को रोक कर जब उसकी छानबीन की तो उसमें से उसे कोई हथियार नहीं मिला. गाड़ी में तीन लोग सवार थे, लेकिन जब पुलिस ने फिर से गाड़ी में तलाशी ली तो गाड़ी की पिछली लाइट के अंदर बदमाशों ने जगह बना कर उसमें 18 पिस्टल छुपा रखे थे. सभी पिस्टल .32 बोर के हैं.

इसके बाद पुलिस ने गाड़ी में मौजूद तीनों तस्करों को गिरफ्तार कर लिया. पकड़े गए बदमाशों की पहचान शिव कुमार, मंगल और रवि के रूप में हुई है. पुलिस के मुताबिक शिव पिछले कई सालों से इस धंधे में है. पूछताछ में उसने कबूल किया है कि दिल्ली और एनसीआर में उसने 500 से ज्यादा अवैध हथियार सप्लाई किए हैं.

शिव ने पुलिस को बताया कि उसने हाल ही में मंगल और रवि को अपने गैंग में शामिल किया है. मंगल और रवि की किसी से रंजिश थी, जिसे खत्म करने के लिए दोनों को हथियार चाहिए थे. जिसकी वजह से उन्होंने शिव से संपर्क किया. शिव ने दोनों को लालच देकर अपने धंधे में ही लगा लिया. पुलिस तीनों से पूछताछ कर रही है.

Read more!

RECOMMENDED