'टॉप-10' मोस्ट वॉन्टेड की लिस्ट शामिल होना चाहता है ये क्रिमिनल

जयवीर की कहानी हैरतंगेज है. क्योंकि वो दिल्ली पुलिस की 'टॉप-10' मोस्ट वॉन्टेड की लिस्ट में शामिल होने के लिए 'नरसंहार' करने पर आमादा था. मगर उसे क्राइम ब्रांच ने पहले ही धरदबोचा. पुलिस के अनुसार, वह पहले से दो हत्याओं के मामले में वॉन्टेड था.

पुलिस ने इस शातिर बदमाश को गुप्त सूचना के आधार पर गिरफ्तार किया है
परवेज़ सागर/चिराग गोठी
  • नई दिल्ली,
  • 01 सितंबर 2016,
  • अपडेटेड 7:31 PM IST

नाम- जयवीर उर्फ मोनू

पिता का नाम- अज्ञात

जन्म- 1986

जन्म स्थान- ग्राम नानाखेड़ी, नई दिल्ली

शिक्षा- 12वीं

परिवार- माता-पिता, तीन भाई, दो बहनें

आरोप-

दो लोगों की हत्या

लूट और चोरी की वारदातें

गैंगवार, हत्या की कोशिश

Must Read: सीबीआई को तलाश है इस मोस्ट वॉन्टेड महिला की

काले कारनामें- जयवीर की कहानी हैरतंगेज है. क्योंकि वो दिल्ली पुलिस की 'टॉप-10' मोस्ट वॉन्टेड की लिस्ट में शामिल होने के लिए 'नरसंहार' करने पर आमादा था. मगर उसे क्राइम ब्रांच ने पहले ही धरदबोचा. पुलिस के अनुसार, वह पहले से दो हत्याओं के मामले में वॉन्टेड था. जयवीर पिछले कुछ समय से विरोधी गैंग के फैमिली मेम्बर्स के कत्ल की साजिश कर रहा था. दरअसल वह ताबड़तोड़ हत्याएं करके टॉप-10 की लिस्ट में शुमार होना चाहता था. ये खुलासा उसने खुद पुलिस के सामने किया है.

जयवीर पुलिस की टॉप-10 मोस्ट वॉन्टेड की लिस्ट से घबराने के बजाए, उसमें शामिल होने की चाह रखता है. उसका मानना है कि लिस्ट में जो बदमाश जितने 'टॉप' पर होता है, उसका टेरर और उसके नाम से होने वाली उगाही उतनी ही ज्यादा होती है. क्राइम ब्रांच ने उसे मुखबिर से सूचना पर नजफगढ़-नांगलोई रोड पर एयरफोर्स स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया है. उसके पास से 9 एमएम की पिस्तौल और 5 गोलियां रिकवर हुईं हैं. इसके अलावा एक आई-20 कार भी उसके पास से बरामद हुई है जो उसने बीती 24 अगस्त को गुड़गांव में गन पॉइंट पर लूटी थी. जयवीर पहली बार साल 2011 में हरियाणा में अटेम्प्ट मर्डर के केस में अरेस्ट हुआ था.

Read more!

RECOMMENDED