आमेर मर्डर केसः पति ही निकला कातिल, ऐसे किया था पत्नी का कत्ल

कातिल ने लड़की की स्कूटी को भी मौका-ए-वारदात के पास ही छोड़ दिया था. बस इसी से पुलिस ने लड़की की शिनाख्त की और कानून के हाथ कातिल तक जा पहुंचे. पहली नजर में यह मामला हैदराबाद की निर्भया जैसा लग रहा था.

रेशमा और अयाज ने 2017 में लव मैरिज की थी (फोटो- सोशल मीडिया)
aajtak.in/परवेज़ सागर
  • जयपुर,
  • 21 जनवरी 2020,
  • अपडेटेड 5:56 PM IST

जयपुर के आमेर में जिस लड़की की लहूलुहान लाश मिली थी, उसका कातिल कोई और नहीं बल्कि उसका पति ही निकला. पुलिस ने लाश बरामद होने के कुछ घंटे बाद ही इस वारदात का खुलासा कर दिया. दरअसल, कातिल ने लड़की की स्कूटी को भी मौका-ए-वारदात के पास ही छोड़ दिया था. बस इसी से पुलिस ने लड़की की शिनाख्त की और कानून के हाथ कातिल तक जा पहुंचे. पहली नजर में यह मामला हैदराबाद की निर्भया जैसा लग रहा था.

जब सोमवार की सुबह राजधानी के करीब आमेर इलाके में जयपुर-दिल्ली हाइवे पर सूनसान जगह पर एक लड़की की खून से सनी लाश मिली थी तो लोग सन्न रह गए थे. क्योंकि मौका-ए-वारदात के हालात बिल्कुल हैदराबाद की निर्भया जैसे थे. गनीमत ये थी कि लड़की को जलाया नहीं गया था. लेकिन कातिल ने बेरहमी से उसका चेहरा पत्थर से कुचल डाला था. ताकि उसका पहचान न हो सके.

पुलिस के मुताबिक कातिल ने मौके पर ही एक बड़ी गलती कर दी. उसने कत्ल के बाद लड़की की स्कूटी वहां से कुछ दूर झाड़ियों में लावारिस हालत में छोड़ दी. उसके करीब ही एक टूटा हुआ हेलमेट पड़ा हुआ था. दरअसल, वो स्कूटी मृतका की थी. जिसके रजिस्ट्रेशन नंबर से लड़की की शिनाख्त हो गई. पुलिस को छानबीन में पता चला कि मृतका 25 वर्षीय रेशमा उर्फ नैना मंगलानी थी. जो झुलेलाल कॉलोनी, ब्रह्मपुरी, जयसिंहपुरा खोर की रहने वाली थी.

लड़की की शिनाख्त होते ही पुलिस ने मामले की जांच तेज कर दी. पुलिस लड़की के पते पर जा पहुंची. जहां रेशमा के परिवार से पूछताछ की गई. उसके मोबाइल नंबर की कॉल डिटेल भी कंपनी से मांगी गई. कुछ घंटे में ही पुलिस ने उसके मोबाइल नंबर की सीड़ीआर हासिल कर ली. पुलिस ने सारे नंबर खंगाले. लड़की के परिजनों से पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि लड़की ने अक्टूबर 2017 में अयाज अहमद नामक अपने दोस्त से शादी कर ली थी. परिजनों को बात से पुलिस का शक पति की तरफ चला गया.

इसके बाद रेशमा का 25 वर्षीय पति अयाज अहमद अंसारी पुलिस के रडार पर था. लिहाजा पुलिस ने दबिश देकर अयाज को धरदबोचा. पहले वो नानुकुर करता रहा लेकिन सख्ती से पूछताछ करने पर उसने अपनी पत्नी के कत्ल का गुनाह कुबूल कर लिया. पुलिस के मुताबिक जयपुर के घाटगेट में सराय वालों का मोहल्ला निवासी अयाज पुत्र रियाज अहमद प्राइवेट कंपनी में काम करता है. उसने 2017 में रेशमा उर्फ नैना से प्रेम विवाह किया था.

शादी के बाद वो अपनी पत्नी के साथ कालवाड़ रोड पर मंगलम सिटी के एक फ्लैट में रहने लगा था. लेकिन कुछ दिनों से वो रेशमा पर शक करने लगा था. दोनों के बीच अक्सर झगड़ा होने लगा. एक दिन रेशमा अपने मायके चली गई और वहीं रहने लगी. कुछ माह पहले उसने एक बेटे को जन्म दिया. लेकिन वो वापस अयाज के पास नहीं गई. अयाज इस बात से खफा था और इसी के चलते उसने रेशमा के कत्ल की साजिश रच डाली.

इसी साजिश को अमली जामा पहनाते हुए कातिल अयाज ने अपनी पत्नी रेशमा को मिलने के लिए बुलाया. रविवार के दिन रेशमा शाम से पहले स्कूटी लेकर उससे मिलने के लिए जा पहुंची. फिर वहां से दोनों मंगलम सिटी, कालवाड़ रोड स्थित अपने फ्लैट पर आ गए. वहां अयाज ने रेशमा को बीयर पिला दी. कुछ देर कमरे पर रुकने के बाद दोनों जयपुर दिल्ली हाइवे पर निकल गए. जहां मौका पाकर एक सूनसान इलाके में अयाज ने रेशमा का गला घोंट दिया और उसे मौत के घाट उतार दिया.

कत्ल के बाद उसकी लाश को वो घसीटकर झाड़ियों के पास ले गया और एक पत्थर से उसका चेहरा और सिर बेरहमी से कुचल डाला. इसी दौरान उसने रेशमा की स्कूटी को वहीं एक झाड़ी के पास ले जाकर खड़ा कर दिया और वहां से भाग निकला. लेकिन उसे नहीं पता था कि स्कूटी ही पुलिस को उस तक पहुंचा देगी. इस तरह से पुलिस ने महज कुछ घंटो में तेजी से जांच पड़ताल कर इस मामले का खुलासा कर दिया.

Read more!

RECOMMENDED