सेंसेक्‍स 470 अंक टूटकर हुआ बंद, Yes बैंक के शेयर में 16% की गिरावट

भारतीय शेयर बाजार में गुरुवार को एक बार फिर बड़ी गिरावट दर्ज की गई. कारोबार के अंत में सेंसेक्‍स 36 हजार 100 के नीचे बंद हुआ तो वहीं निफ्टी भी 10 हजार 705 के स्‍तर पर रहा.

सेंसेक्‍स 470 अंक टूटकर हुआ बंद
aajtak.in
  • मुंबई,
  • 19 सितंबर 2019,
  • अपडेटेड 4:21 PM IST

  • सेंसेक्स 36,093.47 के स्तर पर बंद हुआ
  • निफ्टी 136 अंक गिरकर 10,705 के स्तर पर रहा

भारतीय शेयर बाजार में गिरावट का सिलसिला लगातार जारी है. अमेरिका के सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व की ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की कटौती के बाद सेंसेक्‍स और निफ्टी धड़ाम हो गए. हालात ये हो गए कि कारोबार के अंत में सेंसेक्स करीब 470 अंक टूटकर 36,093.47 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी 136 अंक गिरकर 10,705 के स्तर पर रहा. निफ्टी का यह 7 महीने का निचला स्तर है. कारोबार के दौरान सबसे अधिक गिरावट यस बैंक के शेयर में रही.

यस बैंक में 16 फीसदी की गिरावट

कारोबार के दौरान यस बैंक के शेयर में सबसे अधिक गिरावट आई. वहीं कारोबार के अंत में 16 फीसदी की गिरावट आई. दरअसल,  CARE रेटिंग्स ने प्रमोटर राणा कपूर की मॉर्गन क्रेडिट प्राइवेट लिमिटेड (MCPL) के नॉन कन्वर्टिबल डिबेंचर (NCDs) की रेटिंग घटा दी है. इसके बाद शेयर को लेकर निवेशकों का मूड बिगड़ गया है. बता दें कि CARE रेटिंग्स ने रेटिंग को ‘A-’ से घटाकर ‘BBB-’ कर दिया है.

इसका कारण बताते हुए CARE रेटिंग्स ने कहा है कि पहले जब मॉर्गन क्रेडिट प्राइवेट लिमिटेड ने कर्ज लिए थे, तब यस बैंक के शेयरों को गिरवी रखा था. उस दौर से अबतक यस बैंक के शेयरों में बड़ी गिरावट आ चुकी है. इस वजह से रेटिंग डाउनग्रेड कर दी गई है.

बता दें कि MCPL की यस बैंक में करीब 3.03 फीसदी की हिस्सेदारी है. यस बैंक के अलावा टाटा स्‍टील, आईसीआईसीआई बैंक, इंडसइंड बैंक, मारुति, एसबीआईएन, रिलायंस, ओएनजीसी, टेक महिंद्रा, हीरो मोटोकॉर्प, आईटीसी, एलएंडटी, आईटीसी, महिंद्रा, इन्‍फोसिस और एचयूएल के शेयर भी धड़ाम हो गए. इस दौरान टाटा मोटर्स, एचडीएफसी बैंक, एयरटेल और एशियन पेंट के शेयर में मामूली बढ़त दर्ज की गई.

निवेशकों को बड़ा नुकसान

वहीं बाजार में गिरावट से निवेशकों को करोड़ों का नुकसान हुआ है. दरअसल, बुधवार को बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 1,40,19,877.32 करोड़ रुपये था, जो अब 1,38,50,541.85 करोड़ रुपये हो गया है. इस लिहाज से मार्केट कैप में 1,69,335.47 करोड़ रुपये की कमी आई है. यह निवेशकों के लिए बड़ा झटका है.

Read more!

RECOMMENDED