मुकेश अंबानी बनाएंगे फैमिली कौंसिल! ताकि उत्तराधिकार को लेकर न हो कोई विवाद

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी एक फैमिली कौंसिल यानी पारिवारिक परिषद बनाने जा रहे हैं. इस फैमिली कौंसिल में अंबानी के तीनों बच्चे आकाश, ईशा और अनंत के साथ ही परिवार का एक वयस्क सदस्य होगा.

मुकेश अंबानी बनाएंगे फैमिली कौंसिल
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 14 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 12:55 PM IST

  • RIL चेयरपर्सन मुकेश अंबानी बनाएंगे एक फैमिली कौंसिल
  • यह कौंसिल कंपनी में उत्तराधिकार को सहज बनाएगा
  • किसी विवाद की स्थिति में इसकी भूमिका महत्वपूर्ण होगी

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी एक 'फैमिली कौंसिल' यानी पारिवारिक परिषद बनाने जा रहे हैं ताकि उनके कारोबार को अगली पीढ़ी तक आसानी से ट्रांसफर किया जा सके.

कौन-कौन होगा इस कौंसिल में

बिजनेस वेबसाइट LiveMint के अनुसार, इस फैमिली कौंसिल में अंबानी के तीनों बच्चे आकाश, ईशा और अनंत के साथ ही परिवार का एक वयस्क सदस्य होगा. हालांकि अभी इस पर रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है.

इसे भी पढ़ें: क्या है टैक्सपेयर चार्टर, जिसे PM मोदी ने विकास यात्रा में बड़ा कदम बताया है

LiveMint ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि तीनों बच्चों के अलावा इस कौंसिल में परिवार का एक वयस्क सदस्य होगा और परिवार के बाहर का भी एक सदस्य हो सकता है. परिवार के बाहर का सदस्य मेंटोर और सलाहकार का काम करेगा.

गौरतलब है कि मुकेश अंबानी और उनके भाई अनिल अंबानी के बीच रिलायंस की विरासत को लेकर काफी लंबे समय तक विवाद चला था. शायद इसी को देखते हुए मुकेश अंबानी ने यह कौंसिल बनाने का निर्णय लिया हो.

भविष्य की प्लानिंग

आने वाले समय में रिलायंस इंडस्ट्रीज की कमान मुकेश अंबानी के बच्चों के हाथ में होगी. जाहिर है इतनी बड़ी संपदा की बाद में हिस्सेदारी को लेकर विवाद भी हो सकता है.मुकेश अंबानी की संपदा 80 अरब डॉलर के आसपास है.

इसे भी पढ़ें: इन्फोसिस के 74 कर्मचारी हुए करोड़पति, चेयरमैन नीलेकणी ने नहीं लिया वेतन

मामले की जानकारी रखने वाले एक शख्स ने बताया कि अगले साल के अंत तक मुकेश अंबानी अपने बिजनेस अंपायर का उत्तराधिकारी तय कर लेंगे. तो आगे उत्तराधिकार के लिए किसी तरह के विवाद होने पर इस कौंसिल के द्वारा रास्ता निकाला जाएगा और सहज ट्रांसफर की कोशिश सफल हो सकती है.

मुकेश और अनिल में लंबा चला था विवाद

गौरतलब है कि साल 2002 में धीरूभाई अंबानी की मौत के बाद रिलायंस की विरासत को लेकर मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी में कई साल तक विवाद चला था. कई साल की मशक्कत और मां कोकिला बेन की दखल के बाद कंपनी को दो हिस्सों में बांटा गया. मुकेश अंबानी को मिला रिलायंस इंडस्ट्रीज का बिजनेस मिला, जबकि अनिल अंबानी के हिस्से में कम्युनिकेशन, पावर, फाइनेंशियल बिजनेस आया.

(www.businesstoday.in के इनपुट पर आधारित)

Read more!

RECOMMENDED