बिज़नेस न्यूज़

Gautam Adani: अडानी करेंगे 60000 करोड़ रुपये दान, सबसे बड़े भारतीय दानवीर को जानते हैं आप?

aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 24 जून 2022,
  • अपडेटेड 12:17 PM IST
  • 1/7

दुनिया के टॉप-10 रईसों में शामिल भारतीय उद्योगपति और एशिया के सबसे अमीर शख्स गौतम अडानी शुक्रवार 24 जून को 60 साल के हो गए. इस मौके पर उन्होंने अपनी संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा दान करने का ऐलान किया है. 1991 तक राष्ट्रीय स्तर पर अडानी का कोई नाम भी नहीं जानता था, सिर्फ 20 साल में उन्होंने अपने कारोबार को देश-दुनिया में फैला दिया.

  • 2/7

अडानी समूह के चेयरमैन ने कहा है कि वह अपनी संपत्ति में से 7.7 अरब डॉलर (करीब 60 हजार करोड़ रुपये) सामाजिक कार्यों के लिए दान करेंगे. उनके द्वारा दान में दी जाने वाली यह राशि भारत में अब तक दान की गई सबसे बड़ी राशियों में से एक है. 

  • 3/7

अडानी ने इतनी बड़ी रकम को दान करने का फैसला अपने जन्मदिन और पिता की 100वीं पुण्यतिथि पर लिया है. उन्होंने एक बयान में कहा कि दान की जाने वाली इस राशि का इस्तेमाल स्वास्थ्य, शिक्षा और कौशल विकास से संबंधित कार्यों में किया जाएगा.

  • 4/7

गौतम अडानी दुनिया के शीर्ष अरबपतियों की सूची में लंबे समय से अपना दबदबा बनाए हुए हैं. फिलहाल, वह दुनिया में आठवें सबसे अमीर व्यक्ति हैं. खबर लिखे जाने तक ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंसेक्स के मुताबिक, गौतम अडानी की संपत्ति 92.7 अरब डॉलर थी.

  • 5/7

देश के सबसे बड़े दानवीरों की बात करें तो इस मामले में पहले पायदान पर विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी का नाम आता है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, प्रेमजी ने वित्त वर्ष 2021 में 9,713 करोड़ रुपये दान में दिए हैं. बीते कई सालों से विप्रो मुखिया इस सूची में सबसे ऊपर बने हुए हैं.

  • 6/7

बीते तीन सालों में भारत के बड़े उद्योगपतियों के बारे में बात करें तो अजीम प्रेमजी ने 18,070 करोड़ रुपये, शिव नादर ने 2,884 करोड़ रुपये, मुकेश अंबानी ने 1,437 करोड़ रुपये, कुमार मंगलम बिड़ला ने 732 करोड़ रुपये और नंदन नीलेकणी ने 546 करोड़ रुपये दान में दिए हैं. 

  • 7/7

सामाजिक कार्यों के लिए दान करने वालों में और भी कई बड़े भारतीय उद्योगपति शामिल हैं. अनिल अग्रवाल ने तीन साल की अवधि में 458 करोड़ रुपये, हिंदुजा समूह ने 351 करोड़ रुपये, बजाज ग्रुप ने 341 करोड़ रुपये और गौतम अडानी ने हालिया ऐलान से पहले 302 करोड़ रुपये दान में दिए हैं.