scorecardresearch
 

Ind Vs Nz, Kanpur Test: कानपुर टेस्ट ड्रॉ होने की कहानी...आखिरी ओवर तक जंग, फिर ऐसे फिसली टीम इंडिया के हाथ से जीत

Ind Vs Nz, Kanpur Test: कानपुर में भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया मुकाबला आखिरी ओवर तक चला. जहां टेस्ट क्रिकेट अपने पूरे शबाब पर था, एक विकेट के लिए टीम इंडिया तरसती रही और मैच अंत में ड्रॉ हो गया.

Ind Vs Nz, Kanpur Test Ind Vs Nz, Kanpur Test
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारत और न्यूजीलैंड के बीच कानपुर टेस्ट ड्रॉ
  • आखिरी विकेट नहीं ले पाई टीम इंडिया
  • रचिन रवींद्र, एजाज पटेल की जोड़ी ने बचाया मैच

Ind Vs Nz, Kanpur Test: भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया कानपुर टेस्ट ड्रॉ हो गया है. पूरे पांच दिन चला ये टेस्ट मैच अपने आखिरी ओवर तक खेला गया, जीत टीम इंडिया के खाते में आ ही गई थी लेकिन अंत में कुछ ऐसा हुआ कि नतीजा ड्रॉ निकला. खास बात ये भी रही कि टीम इंडिया के हाथ से जिस जोड़ी ने जीत छीनी वो भी एक भारतीय जोड़ी ही थी. 

आखिरी घंटे में मैच का माहौल पूरी तरह दिलचस्प हो गया था, जब एक-एक बॉल पर ग्राउंड में बैठे दर्शक शोर मचा रहे थे. जब रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा की जोड़ी ने न्यूजीलैंड को झटके देने शुरू किए तब लगा कि मैच में जीत टीम इंडिया की होगी. लेकिन दसवां विकेट लेने में पसीने छूट गए, हालात तो ये थे कि कप्तान अजिंक्य रहाणे ने बल्लेबाजों के पास ही 9-10 फील्डर लगा दिए थे. 


लंच के बाद भारतीय टीम ने पलट दिया था गेम

पांचवें दिन का जब खेल शुरू हुआ तब टीम इंडिया को जीत के लिए नौ विकेट की जरूरत थी, लेकिन पहले सेशन में भारत को एक भी विकेट नहीं मिला. टॉम लैथम और विलियम समरविल ने शानदार बैटिंग की और न्यूजीलैंड को मजबूत शुरुआत दिलाई. लेकिन लंच के बाद भारतीय टीम ने वापसी की, दूसरे सेशन में टीम इंडिया ने तीन विकेट लिए.

क्लिक करें: कानपुर में अश्विन का धमाका, सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने के मामले में हरभजन सिंह को पछाड़ा 

आखिरी सेशन में टीम इंडिया को जीत के लिए 6 विकेट की जरूरत थी, रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा की फिरकी का जादू दिखने भी लगा था. न्यूजीलैंड ने 126 पर अपना पांचवां विकेट खोया था, जिसके बाद कुछ-कुछ देर में टीम इंडिया को विकेट मिल ही रहे थे. 

 

 

हालांकि, आखिरी में कमाल हो गया और दो भारतीय मूल के बल्लेबाजों ने टीम इंडिया से जीत को दूर कर दिया. न्यूजीलैंड के रचिन रवींद्र और एजाज पटेल ने न्यूजीलैंड को मैच हारने से बचा लिया. रचिन रवींद्र ने कुल 91 बॉल खेलीं और भारतीय टीम को जीत से दूर रखा.

दूसरी पारी में न्यूजीलैंड के विकेट...

पहला विकेट- 3 रन,  2.6 ओवर
दूसरा विकेट- 79 रन, 35.1 ओवर
तीसरा विकेट- 118 रन, 54.2 ओवर
चौथा विकेट- 125 रन, 63.1 ओवर
पांचवां विकेट- 126 रन, 64.1 ओवर
छठा विकेट- 128 रन, 69.1 ओवर
सातवां विकेट- 138 रन, 78.2 ओवर
आठवां विकेट- 147 रन, 85.6 ओवर
नौवां विकेट- 155 रन, 89.2 ओवर

सूरज ने भी दिया था साथ, लेकिन...

कानपुर टेस्ट के जब आखिरी दस ओवर शुरू हुए, तब मैदान में कुछ अंधेरा भी छाने लगा था. अंपायर्स ने दो-तीन बार रोशनी चेक करने के लिए मीटर भी निकाला, लेकिन हर बार एक और ओवर देखने की हालत आ गई. लेकिन जब न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने भी शिकायत की, तब अचानक ही कानपुर के मैदान में सूरज निकल आया. 

रोशनी बढ़ जाने की वजह से अंपायर्स ने गेम को जारी रखा, खैर इसका कोई फायदा नहीं हो पाया. टीम इंडिया दसवां विकेट नहीं ले पाई. जब दिन के कोटे के 90 ओवर खत्म हो गए थे, उसके बाद भी 11 मिनट का खेल बचा था. लेकिन खराब रोशनी के कारण ही खिलाड़ियों को बाहर जाना पड़ा और फिर दोनों टीमों ने हाथ मिला लिया. 

कानपुर टेस्ट का पूरा लेखा-जोखा

टी-20 सीरीज खत्म होने के बाद दोनों टीमों के बीच खेला गया ये पहला टेस्ट था. विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह, रोहित शर्मा, मोहम्मद शमी, ऋषभ पंत जैसे बड़े नाम इस मैच में नहीं खेल रहे थे. ऐसे में भारतीय टीम की कमान अजिंक्य रहाणे के हाथ में थी, श्रेयस अय्यर को मैच में डेब्यू करने का मौका मिला. 

पहली पारी में टीम इंडिया ने 345 का स्कोर बनाया, डेब्यू मैच में ही श्रेयस अय्यर ने शानदार शतक जड़ दिया. श्रेयस ने 105 रन बनाए और रवींद्र जडेजा ने भी शानदार 50 रन बनाए. वहीं, पहली पारी में न्यूजीलैंड सिर्फ 296 रन ही बना पाए, रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल की शानदार बॉलिंग के दम पर टीम इंडिया बढ़त बनाने में कामयाब रही. 

दूसरी पारी में टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर लड़खड़ाया, लेकिन फिर श्रेयस अय्यर ने कमाल किया और फिफ्टी जड़ी. ऐसा करने वाले श्रेयस अय्यर पहले भारतीय खिलाड़ी बने, जिसने अपने डेब्यू में पहली पारी में शतक, दूसरी पारी में अर्धशतक जमाया हो. टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को 284 रनों का लक्ष्य दिया था.

न्यूजीलैंड की शुरुआत शानदार नहीं रही, पहले उसने अपना विकेट गंवा दिया, लेकिन मैच के आखिरी दिन उसने लड़ाई लड़ी. पहले सेशन में न्यूजीलैंड ने एक भी विकेट नहीं खोया, दूसरे सेशन में टीम इंडिया को तीन विकेट मिले, लेकिन आखिरी सेशन में जीत के लिए 6 विकेट चाहिए थे और टीम इंडिया सिर्फ 5 विकेट ले सकी.
 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×