scorecardresearch
 

जिलाधिकारियों से बोले पीएम मोदी- आपके प्रयासों से आकांक्षी जिले गतिरोधक के बजाय गतिवर्धक बन रहे

पीएम मोदी ने कहा, जब दूसरों के सपनों को पूरा करना अपनी सफलता का पैमाना बन जाए, तो फिर वो कर्तव्य पथ इतिहास रचता है. आज हम देश के आकांक्षी जिलों में यही इतिहास बनते हुए देख रहे हैं. 

X
पीएम मोदी ने योजनाओं पर फीडबैक के लिए अलग अलग जिलों के DM से की बात पीएम मोदी ने योजनाओं पर फीडबैक के लिए अलग अलग जिलों के DM से की बात
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जिलाधिकारियों से किया संवाद
  • पीएम मोदी ने सरकारी योजनाओं पर फीडबैक लिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को विभिन्न जिलों के जिलाधिकारियों से बातचीत की. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, आजादी के 75 साल बाद भी कुछ जिले पिछड़े रह गए. बाद में इन्हें पिछड़े जिलों का तमगा दे दिया गया.

पीएम मोदी ने कहा, जब दूसरों के सपनों को पूरा करना अपनी सफलता का पैमाना बन जाए, तो फिर वो कर्तव्य पथ इतिहास रचता है. आज हम देश के आकांक्षी जिलों में यही इतिहास बनते हुए देख रहे हैं. 

पीएम मोदी ने कहा, एक तरफ बजट बढ़ता रहा, योजनाएं बनती रहीं, आंकड़ों में आर्थिक विकास भी होता रहा, लेकिन फिर भी आजादी के 75 साल बाद भी देश में कई जिले पीछे ही रह गए. समय के साथ इन जिलों के साथ पिछड़े जिलों का टैग लगा दिया गया. 

पीएम ने कहा, आज आकांक्षी जिले देश के आगे बढ़ने के अवरोध को समाप्त कर रहे हैं. आप सबके प्रयासों से आकांक्षी जिले आज गतिरोधक के बजाय गतिवर्धक बन रहे हैं. जो जिले पहले कभी तेज प्रगति करने वाले माने जाते थे, आज कई पैमानों में ये आकांक्षी जिले भी अच्छा काम करके दिखा रहे हैं. आज जो सीएम मौजूद हैं, वे भी मानते हैं कि उनके राज्यों में आकांक्षी जिलों ने कमाल का काम किया है. 

जन-धन खातों में 4 से 5 गुना की वृद्धि हुई

पीएम मोदी ने कहा, पिछले 4 सालों में देश के लगभग हर आकांक्षी जिले में जन-धन खातों में 4 से 5 गुना की वृद्धि हुई है. लगभग हर परिवार को शौचालय मिला है. हर गांव तक बिजली पहुंची है और बिजली सिर्फ गरीब के घर में नहीं पहुंची है बल्कि लोगों के जीवन में ऊर्जा का संचार हुआ है. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आकांक्षी जिलों को लेकर आयोजित वर्चुअल मीटिंग में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर समेत कई मुख्यमंत्री भी शामिल हुए. यह संवाद पीएम मोदी के उस विजन का हिस्सा था, जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि देश का कोई हिस्सा विकास के मामले में पीछे न छूट जाए. 

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई बातचीत में पीएम मोदी ने सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों के क्रियान्वयन की प्रगति और वर्तमान स्थिति के बारे में सीधा फीडबैक लिया. इस संवाद से कार्य निष्पादन की समीक्षा करने और चुनौतियों का पता लगाने में मदद मिलेगी. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें