scorecardresearch
 

कोरोना: दिल्ली में कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, 15000 तक पहुंच सकते हैं डेली केस, अस्पतालों में क्या है तैयारी

त्योहारी सीजन और बढ़ते प्रदूषण के स्तर के बीच, दिल्ली में गुरुवार को कोरोना के 5,739 नए मामले दर्ज किए गए. दूसरी बार है जब राष्ट्रीय राजधानी में यह संख्या 5,000 को पार कर गई.

CORONAVIRUS LATEST UPDATES 30 October 2020, Delhi Corona Update CORONAVIRUS LATEST UPDATES 30 October 2020, Delhi Corona Update

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में सामने आए कोरोना मामलों ने अभी तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. गुरुवार को कोविड-19 के 5,739 नए मामले सामने आए जो एक दिन में अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. संक्रमण के मामलों की संख्या 3.75 लाख से अधिक पहुंच गई है. शहर में यह लगातार दूसरा दिन है जब एक दिन में 5000 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं. 

इससे पहले बुधवार को इस महामारी के 5,673 मामले दर्ज किए गए थे. दिल्ली स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार इस महामारी से 27 और मरीजों की मौत होने से राष्ट्रीय राजधानी में मृतकों की संख्या 6,423 पहुंच गई है. बुलेटिन के अनुसार गुरुवार को 30,952 मरीजों का इलाज चल रहा था. इसके अनुसार मामलों की कुल संख्या बढ़कर 3,75,753 हो गई है.

इस बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि AAP सरकार ने शहर में आक्रामक तरीके से ट्रेसिंग और टेस्टिंग करके कोरोना के खिलाफ अपनी रणनीति को बदल दिया है. बड़ी संख्या में हो रही टेस्टिंग के कारण ही पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामलों में अचानक से तेजी देखी गई है. जैन ने कहा कि यह कोरोना की तीसरी लहर हो सकती है लेकिन यह कहना जल्दबाजी होगी कि यह निर्णायक है. उन्होंने कहा कि कोरोना की संख्या में बड़ी उछाल को तीसरी लहर घोषित करने से पहले रुझानों को देखने के लिए एक और सप्ताह का इंतजार करना चाहिए.

देखें: आजतक LIVE TV 

त्योहारी सीजन और बढ़ते प्रदूषण के स्तर के बीच, दिल्ली में गुरुवार को कोरोना के 5,739 नए मामले दर्ज किए गए. दूसरी बार है जब राष्ट्रीय राजधानी में यह संख्या 5,000 को पार कर गई. जैन ने कहा कि वर्तमान में जो भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव निकलता है, उसके पूरे परिवार की और उसके करीबियों की टेस्टिंग की जाती है. ये भी एक बार नहीं बल्कि दो-दो बार किया जाता है. उन्होंने कहा, हम चाहते हैं कि दिल्ली में कोरोना के एक भी केस न बचें.

आने वाले महीनों में विशेषज्ञों द्वारा प्रति दिन 15,000 कोरोना मामलों के आंकड़े के बारे में पूछे जाने पर, जैन ने कहा, 'विशेषज्ञों द्वारा कोरोना के रोजाना मिलने वाले नए आंकड़ों का अनुमान लगाया गया है, लेकिन यह उस स्तर तक नहीं पहुंच सकता है. हालांकि, हम चाहते हैं कि इसके लिए पूरी तरह से तैयार रहें.' दिल्ली में बुधवार तक 10,100 बेड खाली थे. यानी दिल्ली केस के बढ़ने की स्थिति में उससे निपटने की तैयारी पूरी है.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री जैन ने कहा कि COVID-19 परीक्षण के लिए सबसे बेहतर मानक माने जाने वाले RT-PCR टेस्टिंग की संख्या भी राष्ट्रीय राजधानी में बढ़ी है. वहीं, तेजी से बढ़ रहे कोरोना मामलों पर अधिकारियों ने कुछ कारणों का हवाला दिया और कहा, त्योहारों का मौसम, ठंड, आरटी-पीसीआर टेस्टिंग में वृद्धि और कोरोना वायरस के खिलाफ लापरवाही के कारण आंकड़े तेजी से बढ़े हैं.

जैन ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर के मुकाबले दिल्ली में कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा कम है. गुरुवार को इस महामारी के कारण 27 मरीजों की मौत हो गई, वहीं बुधवार को यह आंकड़ा 40 और मंगलवार को 44 था. इससे पहले सोमवार को 54 और रविवार को 33 मरीजों की मौत हुई थी. जैन ने कहा, 'अगर हम 10 दिनों के औसत को देखें, तो दिल्ली में कोरोना का मृत्यु दर 0.99 प्रतिशत है. वहीं यहां कुल मामलों का मृत्यु दर 1.73 प्रतिशत है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें