scorecardresearch
 

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे की अपील बेअसर? सात और MLA हुए बागी, एकनाथ शिंदे के पास गुवाहाटी पहुंचे

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे की अपील बेअसर होती दिख रही है. सात और MLA कल रात एकनाथ शिंदे के पास गुवाहाटी पहुंच गए. दो और विधायकों के गुवाहाटी जाने की खबरें हैं.

X
उद्धव ठाकरे की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं उद्धव ठाकरे की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उद्धव ने कल सीएम आवास छोड़ दिया था
  • उद्धव ने कहा था कि बागी आकर उनसे बात करें

महाराष्ट्र में उद्धव सरकार की मुश्किलें और बढ़ती दिख रही हैं. सीएम ठाकरे की अपील के बावजूद शिवसेना विधायकों के पाला बदलने का सिलसिला अब भी जारी ही है. आज सुबह तीन और विधायक गुवाहाटी पहुंच गए हैं. इससे पहले बुधवार को चार और विधायक गुवाहाटी में शिंदे गुट से जा मिले थे.

बुधवार रात को करीब 8 बजे चार विधायक गुवाहाटी में मौजूद Radisson Blu होटल पहुंचे. इसी होटल में एकनाथ शिंदे बाकी बागी विधायकों के साथ रुके हुए हैं. जानकारी के मुताबिक, शाम को पहुंचे चार विधायक महाराष्ट्र BJP अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील के साथ सूरत से गुवाहाटी के लिए रवाना हुए थे.

गुवाहाटी पहुंचे शिवसेना के विधायकों में गुलाबराव पाटील और योगेश कदम भी शामिल हैं. बाकी दो विधायक (मंजुला गावित और चंद्रकांत पाटिल) निर्दलीय हैं.

दो और विधायक जा सकते हैं गुवाहाटी

आज कुर्ला के विधायक मंगेश कुदालकर और दादर के विधायक सदा सरवानकर के गुवाहाटी जाने की खबरे हैं. आज जो विधायक सुबह गुवाहाटी पहुंचे हैं उसमें ये दोनों भी शामिल हैं या नहीं यह अभी साफ नहीं है. अगर दावे के मुताबिक ये विधायक शिंदे खेमे को ज्वाइन कर लेते हैं तो शिंदे के साथ शिवसेना के विधायकों की संख्या 36 तक पहुंच जाएगी जबकि अन्य 12 विधायक भी शिंदे के साथ बताए जाते हैं.

यह भी पढ़ें - शिवसेना से बागी हुए एकनाथ शिंदे का हो सकता है पार्टी पर कब्जा? जानें क्या हैं नियम

इस बीच, कल शिंदे गुट ने 34 विधायकों के हस्ताक्षर वाली चिट्ठी गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी को भेजा है. चिट्ठी में कहा गया है कि एकनाथ शिंदे ही शिवसेना विधायक दल के नेता हैं. भरत गोगावले को नया चीफ व्हिप चुन लिया गया है. शिव सेना ने मंगलवार को शिंदे को विधायक दल के नेता पद से हटा दिया था.

उद्धव ने छोड़ा सीएम आवास

बुधवार को दिनभर चली मीटिंग्स के बाद सीएम उद्धव ठाकरे ने देर शाम चौंकाने वाला फैसला लिया था. वह मुख्यमंत्री आवास छोड़कर मातोश्री (अपने घर) पहुंच गए. इतना ही नहीं उन्होंने फेसबुक पर लाइव आकर कहा कि बागी सामने आकर उनसे बात करें.

महाराष्ट्र की जनता से फेसबुक संवाद में कल उद्धव ठाकरे ने कहा कि इस्तीफा तैयार है. चाहे सीएम पद से से लो, चाहे पार्टी प्रमुख पद से. लेकिन उद्धव ठाकरे कहते हैं कि जो कुछ कहना है, सामने आकर कहो. ऐसा करके ठाकरे ने गेंद शिंदे गुट के पाले में डाल दी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें