scorecardresearch
 

महाराष्ट्र में कोरोना को लेकर सरकार सतर्क, मुंबई की मेयर बोलीं- आ गई तीसरी लहर

महाराष्ट्र में भी संभावित तीसरी लहर को लेकर सरकार सतर्क हो गई है. उद्धव सरकार लोगों को चेता रही है ताकि कोरोना के मामलों में तेजी से इजाफा नहीं हो सके. उधर, मुंबई की मेयर ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर आ गई है. 

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना की तीसरी लहर से पहले महाराष्ट्र सरकार सतर्क
  • मुंबई की मेयर बोलीं- आ गई तीसरी लहर
  • गणेश चतुर्थी पर कोविड प्रोटोकॉल के पालन की अपील

कोरोना की दूसरी लहर में देशभर में तबाही मचने के बाद अब सरकार संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी कर रही है. केरल में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामलों में काफी उछाल आया है, जिसके बाद राज्य सरकार को विभिन्न प्रकार की पाबंदियां भी लागू करनी पड़ीं. वहीं, अब महाराष्ट्र में भी संभावित तीसरी लहर को लेकर सरकार सतर्क हो गई है.

उद्धव सरकार लोगों को चेता रही है ताकि कोरोना के मामलों में इजाफा नहीं हो सके. उधर, मुंबई की मेयर ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर आ गई है. 

तीसरी लहर को लेकर क्या बोलीं मुंबई की मेयर?

महाराष्ट्र में गणेश चतुर्थी की शुरुआत होने से पहले कोरोना वायरस की तीसरी लहर को लेकर चिंता बढ़ गई है. मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने लोगों से घर पर ही गणेश चतुर्थी मनाने की अपील की. उन्होंने कहा, ''मुंबई मेयर होते हुए मैं तो 'मेरा घर, मेरा बप्पा' को फॉलो करने जा रही हूं. मैं कहीं भी नहीं जाऊंगी और न ही किसी को अपने भगवान के पास लाऊंगी. कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए यह काफी महत्वपूर्ण है.'' मेयर ने यह भी कहा कि कोरोना की तीसरी लहर आ नहीं रही है, बल्कि यहीं है.

सीएम ठाकरे ने की थी रैलियों को रद्द करने की अपील

इससे पहले, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी राज्य में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी होने की वजह से राजनीतिक दलों से सभी रैलियों और धार्मिक कार्यक्रमों को रद्द करने की अपील की थी. डिजास्टर मैनेजमेंट की बैठक में मुख्यमंत्री ठाकरे के अलावा, अजित पवार, बाला सोहब थोराट, अशोक चव्हाण समेत कई अन्य मंत्री भी शामिल हुए थे. बैठक में उद्धव ठाकरे ने कहा था, ''पब्लिक हेल्थ काफी महत्वपूर्ण है. त्योहार भविष्य में भी मनाए जा सकते हैं. अगर कोरोना के मामले बढ़ते हैं तो स्थिति काफी खराब हो जाएगी. अगर तीसरी लहर को आने से रोकना है तो स्वास्थ्य पर जरूर ध्यान देना होगा.''

कोविड प्रतिबंध पर सीएम से नहीं की कोई बात: राजेश टोपे

उधर, गणेश उत्सव से पहले महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने एक बार फिर लोगों को सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ जमा करने के प्रति आगाह किया. उन्होंने कहा, ''यह कोई रॉकेट साइंस नहीं है. यह आसान है कि अगर सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ जमा होगी तो मामले बढ़ेंगे.'' हालांकि, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने इस बात से इनकार किया कि उन्होंने राज्य में फिर से कोविड-19 प्रतिबंध लगाने के संबंध में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ बातचीत की है. मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग और मुख्यमंत्री के बीच ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं रखा गया है या चर्चा भी नहीं की गई है. उन्होंने लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल्स का पालन करने की अपील की. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें