scorecardresearch
 

US-कनाडा बॉर्डर पर ठंड से जान गंवाने वाले परिवार की हुई पहचान, Human Trafficking का अंदेशा

मेडिकल रिपोर्ट में पटेल परिवार की मौत का कारण ज्यादा ठंड लगने को बताया गया है. परिवार ज्यादा समय तक खुले आसमान के नीचे रहा. इसके कारण ही बर्फ में जम जाने से सभी की मौत हो गई.

X
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पुलिस पता लगा रही कि परिवार बॉर्डर पर कैसे पहुंचा
  • परिवार को बॉर्डर पर छोड़ने वाले ड्राइवर को भी ढूंढ रही पुलिस

अमेरिका-कनाडा बॉर्डर पर बर्फ में जमकर जान गंवाने वाले 4 भारतीय नागरिकों की पहचान हो गई है. कनाडा बॉर्डर पुलिस के मुताबिक चारों एक ही परिवार के सदस्य हैं और सभी की मौत बर्फ में जमने के कारण हुई है. पुलिस इस मामले को मानव तस्करी (Human Trafficking) के केस से भी जोड़कर देख रही है. कनाडा पुलिस के मुताबिक मृतकों के नाम जगदीश बलदेवभाई पटेल (39), वैशालीबेन जगदीशकुमार पटेल (37), विहांगी जगदीशकुमार पटेल (11) और धार्मिक जगदीशकुमार पटेल (3) हैं. यह परिवार गुजरात के गांधीनगर जिले में दिंगुचा गांव का रहने वाला था.

कनाडा की रॉयल पुलिस ने अमेरिका-कनाडा बॉर्डर से गुजराती परिवार के शव बरामद किए हैं. पुलिस के मुताबिक परिवार कुछ समय पहले कनाडा आया था. हालांकि ये पता नहीं चल सका है कि यह परिवार अमेरिका-कनाडा बॉर्डर पर कैसे पहुंचा. टोरंटो में स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारी मृतकों के परिवार के संपर्क में हैं. दूतावास के अधिकारियों के मुताबिक इस घटना की जांच से जुड़े सभी पहलुओं पर कनाडा के अधिकारियों के साथ मिलकर काम किया जा रहा है.

परिवार को बॉर्डर पर छोड़ने वाली गाड़ी की तलाश

कनाडा पुलिस के मुताबिक मेडिकल रिपोर्ट से साफ हुआ है कि बर्फ में जम जाने के कारण सभी की मौत हुई है. पुलिस ने बताया कि पटेल परिवार 12 जनवरी को टोरंटो पहुंचा था. इसके बाद सभी सदस्य 18 जनवरी के आसपास कनाडा के इमर्सन शहर पहुंचे थे. पुलिस को घटनास्थल पर कोई गाड़ी नहीं मिली. इसलिए पुलिस अनुमान लगा रही है कि परिवार को इमर्सन में छोड़ने के बाद ड्राइवर गाड़ी लेकर वहां से चला गया होगा. पुलिस उस ड्राइवर को भी ढूंढने की कोशिश कर रही है. पुलिस ये भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या कनाडा आने के बाद पटेल परिवार ने किसी से मुलाकात की थी.

मानव तस्करी के आरोप में अमेरिकी नागरिक हुआ है गिरफ्तार

कनाडा पुलिस के घटना को मानव तस्करी के एंगल से जोड़कर देखने के पीछे भी कई कारण हैं. पुलिस को इस बात की आशंका इसलिए भी है क्योंकि पिछले हफ्ते ही अमेरिका के मिनेसोटा जिले में 47 वर्षीय अमेरिकी नागरिक स्टीव शैंड के खिलाफ मानव तस्करी का मामला दर्ज किया गया है. अमेरिकी पुलिस ने शैंड को 2 भारतीय नागरिकों के पकड़े जाने के बाद गिरफ्तार किया था. दोनों नागरिक अमेरिका में अवैध रूप से रह रहे थे. 

(पीटीआई के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें:

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें