scorecardresearch
 

शुरुआत से बागी हैं कंगना रनौत, बोलीं- जब पिता ने मुझे थप्पड़ मारने की कोशिश की तो... 

कंगना ने आगे ट्वीट किया, ''इस चिल्लर इंडस्ट्री को लगता है कि सफलता मेरे सिर चढ़कर बोल रही है और ये लोग मुझे ठीक कर सकते हैं. मैं हमेशा से बागी थी, ये बस सफलता पाने के बाद मेरी आवाज और बुलंद हो गई है और आज मैं देश की सबसे महत्त्वपूर्ण आवाजों में से एक हूं. इतिहास गवाह है कि जिसने भी मुझे ठीक करने की कोशिश की है, मैंने उसे ठीक कर दिया है.''

कंगना रनौत कंगना रनौत

अपनी बेबाकी और ट्विटर पर देश और दुनिया के लोगों की क्लास लगाने के लिए जानी जाने वाली कंगना रनौत, इन दिनों अपनी जिंदगी की कहानी सुना रही हैं. कंगना ने लगातार कई ट्वीट करते हुए बताया है कि कैसे वह शुरुआत से ही बागी रही हैं और फेमस होने के बाद उनकी आवाज और ज्यादा बुलंद हो गई है. कंगना ने हाल ही में इस बात को साबित करने के लिए एक वीडियो भी शेयर किया. उन्होंने कहा कि वह 15 साल की उम्र में ही बागी बन गई थीं. इसके साथ ही कंगना रनौत ने ये भी बताया कि कैसे उन्होंने अपने पिता से बगावत की थी और जब पिता ने उन्हें थप्पड़ मारना चाहा तो क्या हुआ था. 

पहली बागी राजपूत महिला हैं कंगना 

कंगना ने ट्वीट किया, ''मेरे पिता के पास लाइसेंस्ड राइफल और बंदूके हैं. मेरे बचपन में वह डांटते नहीं बल्कि दहाड़ते थे. उनकी आवाज से मेरी पसलियां तक कांपती थीं. अपनी जवानी में वो अपने कॉलेज में गैंग वॉर करवाने के लिए मशहूर थे, जिसकी वजह से उन्हें गुंडा माना जाता था. मैंने 15 साल की उम्र में उनसे लड़ाई की थी और घर छोड़ दिया था. ऐसे में, मैं 15 साल की उम्र में पहली बागी राजपूत महिला बन गई थी.''

उन्होंने आगे ट्वीट किया, ''इस चिल्लर इंडस्ट्री को लगता है कि सफलता मेरे सिर चढ़कर बोल रही है और ये लोग मुझे ठीक कर सकते हैं. मैं हमेशा से बागी थी, ये बस सफलता पाने के बाद मेरी आवाज और बुलंद हो गई है और आज मैं देश की सबसे महत्त्वपूर्ण आवाजों में से एक हूं. इतिहास गवाह है कि जिसने भी मुझे ठीक करने की कोशिश की है, मैंने उसे ठीक कर दिया है.''

जब पिता ने की थी थप्पड़ मारने की कोशिश 

अपने पिता के बारे में बात करते हुए कंगना रनौत ने लिखा, ''मेरे पापा चाहते थे कि मैं दुनिया की बेस्ट डॉक्टर बनूं. उन्होंने सोचा कि हमें बेस्ट इंस्टिट्यूट में पढ़ाकर वो एक क्रांतिकारी पापा बन रहे हैं. जब मैंने स्कूल जाने से मना किया तो उन्होंने मुझे थप्पड़ मारने की कोशिश की, तब मैंने उनका हाथ पकड़ लिया था. मैंने उन्हें कहा- अगर आप मुझे थप्पड़ मारोगे तो मैं भी आपको थप्पड़ मरूंगी.''

उन्होंने आगे बताया, ''वो हमारे रिश्ते का अंत था. उन्होंने मुझे देखा, फिर मेरी मां को देखा और फिर कमरे से चले गए. मुझे पता था कि मैंने अपनी सीमा पार कर दी है और मैंने उन्हें कभी दोबारा नहीं पाया. लेकिन मैं पिंजरे में नहीं रह सकती थी और आजादी पाने के लिए मैं कुछ भी कर सकती थी.''

कंगना शेयर कर रहीं पुराना वीडियो 

कंगना ने आज अपने दिन की शुरुआत 2012 की एक वीडियो शेयर कर की, जिसमें उन्होंने बताया है कि वह हमेशा से ही बेबाक रही हैं. इस वीडियो में कंगना बात कर रही हैं कि कैसे फिल्म गैंगस्टर के बाद उनके पास काम नहीं था. साथ ही वह बता रही हैं कि फिल्म फैशन के लिए नेशनल अवॉर्ड जीतने के बाद एक सुपरस्टार ने उन्हें कहा था कि उनका करियर खत्म हो गया है. 

नेता को कंगना का करारा जवाब 

बता दें कि हाल ही में कमलनाथ सरकार में मंत्री रह चुके कांग्रेस नेता सुखदेव पांसे ने भी कंगना पर निशाना साधा था. गुस्से में विवादित बयान देते हुए सुखदेव ने कंगना को एक नाचने-गाने वाली बता दिया था. IANS की तरफ से सुखदेव पांसे का ये बयान शेयर किया गया, जिसपर कंगना रनौत ने अपने ही अंदाज में पूर्व मंत्री को जवाब दिया.

कंगना ने जवाब में लिखा- ये जो भी बेवकूफ हैं, मैं बताना चाहती हूं कि मैं कोई दीपिका-कटरीना या आलिया नहीं हूं. मैं अकेली ऐसी हूं जिसने आइटम नंबर करने से मना कर दिया था. बड़े सितारों के साथ फिल्में नहीं की, पूरी बॉलीवुड की एक गैंग को अपने खिलाफ किया. मैं एक राजपूत महिला हूं, नाचती नहीं हूं, हड्डियां तोड़ती हूं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें