scorecardresearch
 

आजमगढ़: ऑनलाइन एजुकेशन के लिए बेटे को दिया मोबाइल फोन, पिता ने गंवाए 8 लाख

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में एक शख्स के 8 लाख रुपये ऑनलाइन ठगों ने हड़प लिए. ऑनलाइन पढ़ाई के नाम पर शख्स ने अपने बच्चे को अपना फोन दिया था, जिसे हैकरों ने अपने दांव में फंसाकर सारे पैसे गायब कर दिए.

लॉकडाउन में चल रहा ऑनलाइन ठगी का धंधा (प्रतीकात्मक तस्वीर) लॉकडाउन में चल रहा ऑनलाइन ठगी का धंधा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

  • ऑनलाइन गेम खेल रहा था बच्चा
  • हैकरों ने मंगाई पिता की बैंक डिटेल
  • OTP नंबर लिया, फोन नंबर भी बदला
लॉकडाउन की वजह से स्कूल-कॉलेज बंद हैं. स्कूल बच्चों को ऑनलाइन पढ़ा रहे हैं. ऑनलाइन पढ़ाई एक शख्स को भारी पड़ गई, जब उसने अपना फोन अपने बच्चे को थमा दिया. उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में ऑनलाइन एजुकेशन के नाम पर एक शिक्षक के खाते से 8 लाख रुपये गायब हो गए.

8 लाख रुपये जाने से शिक्षक का पूरा परिवार सदमे में हैं. शिक्षक का आरोप है कि इस चोरी में बैंक के कर्मचारी भी शामिल हैं. पुलिस बयान दर्ज कर आगे की कार्रवाई कर रही है. यह पूरा मामला बिलियागंज थाने के हेंगाईपुर का है.

हेंगईपुर में हरिवंश लाल श्रीवास्तव एक प्राइमरी स्कलू में टीचर हैं और उनका बैंक खाता एसबीआई बिलरियागंज में है. उनके खाते में मैसेज अलर्ट की भी सुविधा है लेकिन उनके बैंक खाते से 10 अप्रैल 2020 से 12 मई 2020 के बीच तकरीबन आठ लाख रुपए ऑनलाइन ठगी के जरिए चोरी हो गए.

जॉब दिलाने के नाम पर करते थे ऑनलाइन ठगी, 3 युवती सहित 5 गिरफ्तार

Whatsapp पर मंगवाई खाते की डिटेल

पीड़ित परिवार का कहना है कि उन्होंने ऑनलाइन एजुकेशन के लिए अपने बच्चे के हाथ में मोबाइल पकड़ा दिया था. मोबाइल पर ऑनलाइन एजुकेशन के साथ ही बच्चा ऑनलाइन गेम खेलने लगा. इसी गेम खेलने के चक्कर में हैकरों ने बच्चे को अपने जाल में फंसा लिया और उसके पिता के डेबिट कार्ड की कॉपी की फोटो Whatsapp से मंगवा ली. हैकरों ने ओटीपी और अन्य जानकारियां भी जुटा लीं. हैकरों ने बैंक खाते में सीधे एक्सेस बना लिया.

ठगों ने बदला मोबाइल नंबर

हैरान करने वाली बात यह है कि टीचर का मोबाइल नंबर भी बदल दिया गया, जिससे अलर्ट सुविधा भी नहीं रही और शिक्षक को पता भी नहीं चला. 12 मई को मोबाइल नंबर पर मैसेज देख टीचर जब बैंक गए तो यह देखकर हैरान हो गए.

ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह के चार सदस्य पुलिस के हत्थे चढ़े

उन्होंने अपने खाते का स्टेटमेंट निकलवाया तो आगरा से लेकर पंजाब तक कई जगह पैसे अलग-अलग खातों में ट्रांसफर होने की बात सामने आई. इस ट्रांसफर में करीब 8 लाख रुपये जा चुके थे. शिक्षक को बिना किसी शिकायत के बाद भी मोबाइल नंबर अपडेट होने की सूचना मिली.

पंजाब से जुड़े हो सकते हैं ठगों के तार

वापस उनका ओरिजिनल नंबर आ गया. खास बात है कि शिक्षक जब खुद पैसा निकालने गए तो उनके मोबाइल पर मैसेज अलर्ट आया. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. पुलिस को शक है कि इस गैंग के तार पंजाब के लुधियाना से भी जुड़े हो सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें