पाकिस्तान में खत्म हो रही सरकारी नौकरियां, विज्ञान मंत्री फवाद चौधरी बोले- 400 विभाग होंगे बंद

आर्थिक तंगी का सामना कर रहे पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत के खिलाफ अनावश्यक की बयानबाजी में व्यस्त हैं, लेकिन उसे अपने नागरिकों की कोई सुध नहीं है. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी का कहना है कि लोग नौकरियों के लिए सरकार की तरफ न देखें. सरकार 400 विभागों को बंद करने जा रही है.

पाकिस्तान के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी (फाइल-IANS)
aajtak.in
  • इस्लामाबाद,
  • 17 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 9:18 AM IST

  • फवाद चौधरी ने कहा कि नौकरियों के लिए सरकार की ओर न देखें
  • बढ़ा विवाद, कहा- उनके बयान को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया

आर्थिक तंगी का सामना कर रहे पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत के खिलाफ अनावश्यक की बयानबाजी में व्यस्त हैं, लेकिन उसे अपने नागरिकों की कोई सुध नहीं है. इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी देश में एक करोड़ नए रोजगार के सृजन के वादे के साथ सत्ता में आई थी, लेकिन अब इसके विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी का कहना है कि लोग नौकरियों के लिए सरकार की तरफ न देखें.

अपने विवादित बयानों से चर्चा में रहने वाले विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी के नौकरी से जुड़े बयान देने के बाद उनके देश में हंगामा मच गया और विवाद बढ़ते देख उन्हें सफाई देनी पड़ी. फवाद चौधरी ने सफाई दी कि मीडिया में उनके हर बयान को तोड़ मरोड़कर पेश किया जाता है. इस बयान के साथ भी ऐसा ही हुआ है.

फवाद चौधरी ने क्या कहा था?

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, इस्लामाबाद में एक कार्यक्रम में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी ने कहा, 'सरकार लोगों को रोजगार मुहैया नहीं करा सकती. इसके बजाए मैं तो आपको यह बता रहा हूं कि सरकार 400 विभागों को बंद करने जा रही है.'

फवाद चौधरी ने कहा, 'पाकिस्तान में और दुनिया में हर जगह, सरकार की भूमिका सिकुड़ रही है. लोगों के लिए यह समझना बहुत जरूरी है कि सरकार नौकरियां नहीं दे सकती. अगर हम नौकरियों के लिए सरकार की तरफ देखने लगेंगे तो हमारी अर्थव्यवस्था का फ्रेमवर्क ढह जाएगा. यह 1970 के दशक की मानसिकता है कि सरकार रोजगार देगी. लेकिन अब निजी क्षेत्र रोजगार देता है.'

फवाद चौधरी ने सफाई में क्या कहा?

उनके इस बयान पर विवाद बढ़ने के बाद मंत्री फवाद चौधरी ने ट्विटर पर मोर्चा संभाला और कहा कि उनकी बात को संदर्भ से काटकर पेश किया गया है. उन्होंने ट्वीट किया, 'मैं हतप्रभ रह जाता हूं यह देखकर कि कैसे मेरे हर बयान को संदर्भ से काटकर सुर्खियां बना दिया जाता है.'

पाकिस्तानी मंत्री ने अपनी सफाई में कहा, 'मैंने कहा था कि सरकार नहीं, निजी क्षेत्र रोजगार देते हैं. सरकार का काम ऐसा वातावरण बनाना है जिसमें रोजगार उपलब्ध हो सके. यह नहीं होना चाहिए कि हर व्यक्ति सरकारी नौकरी की ही तलाश में रहे.'

Read more!

RECOMMENDED