रिहा किए गए कनाडाई शख्स ने बताया- पत्नी का किया गया रेप, बेटी को मार डाला

34 साल के बॉयले शुक्रवार को अपनी पत्नी कैटलन कोलमन (31) और तीन बच्चों के साथ कनाडा पहुंचे. बता दें बॉयले और उनकी पत्नी का साल 2012 में अफगानिस्तान में एक यात्रा के दौरान किडनैप कर लिया गया था. उनके तीनों बच्चे अपहरणकर्ताओं के चंगुल में रहते हुए ही पैदा हुए.

जोशुआ बॉयले
परमीता शर्मा
  • ,
  • 14 अक्टूबर 2017,
  • अपडेटेड 7:35 PM IST

अफगान तालिबान से जुड़े संगठन द्वारा छोड़े गए पूर्व बंधक जोशुआ बॉयले ने कनाडा पहुंचने के बाद अपना दर्द बयां करते हुए बताया कि कैद के दौरान आतंकियों ने उनकी पत्नी का कई बार बलात्कार किया और उनकी नवजात बच्ची को भी मार दिया.

34 साल के बॉयले शुक्रवार को अपनी पत्नी कैटलन कोलमन (31) और तीन बच्चों के साथ कनाडा पहुंचे. बता दें बॉयले और उनकी पत्नी का साल 2012 में अफगानिस्तान में एक टूर के दौरान किडनैप कर लिया गया था. उनके तीनों बच्चे अपहरणकर्ताओं के चंगुल में रहते हुए ही पैदा हुए.

बॉयले ने हक्कानी नेटवर्क की निंदा करते हुए बताया कि उन्होंने मेरी नवजात बेटी की हत्या कर दी. इतना ही नहीं उन्होंने जो मुझे जो काम करने के लिए कहा उसके लिए मना करने पर उन्होंने मेरी पत्नी का रेप भी किया. उन्होंने बताया कि उनकी बेटी की हत्या साल 2014 में की गई थी.

बॉयले ने बताया कि यह रेप करने के लिए उन्हें हक्कानी कमांडर अबू हज्र की मदद मिली थी. उन्होंने इस बात का भी खुलासा किया कि हक्कानी ग्रुप को सिराजुद्दीन हक्कानी चलाता है जो अफगान तालिबान का नेता भी है. उन्होंने बताया कि उनका उस समय अपहरण किया गया था जब हम अफगानिस्तान में तीर्थयात्रा करने गए थे और गरीबों की मदद कर रहे थे.

अमेरिका और पाकिस्तान के संबंधों में आएगा बदलाव

बता दें कि इनके परिवार की सुरक्षित रिहाई होने पर अमेरिका के व्हाइट हाउस ने कहा था कि इससे अमेरिका- पाकिस्तान के बीच सहयोगात्मक संबंध में बदलाव आएगा. व्हाइट हाउस चीफ ऑफ स्टाफ जॉन कैली ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि कि इस संबंध में पाकिस्तानी बड़े सहयोगी हैं. मुझे लगता है कि कुछ बदलाव आया. उम्मीद है कि अमेरिका और पाकिस्तान के बीच सहयोगात्मक संबंध में बदलाव होगा. अमेरिकी अधिकारियों की खुफिया जानकारी के आधार पर पाकिस्तानी बलों के एक अभियान के बाद बुधवार को बंधकों को बरामद किया गया था.

Read more!

RECOMMENDED