IPL-2020 में खिलाड़ियों को मिलेगा फैमिली का साथ, पर BCCI ने रखी ये शर्त

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने आईपीएल-2020 के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) को सख्ती से लागू करने की पूरी तैयारी कर ली है.

19 सितंबर से खेला जाएगा IPL 2020 (फोटो- Twitter)
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 06 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 10:20 AM IST

  • बीसीसीआई ने सौंपी SOP, सख्ती से होगी लागू
  • ड्रेसिंग रूम में नहीं होंगी IPL की टीमें बैठकें

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने आईपीएल-2020 के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) को सख्ती से लागू करने की पूरी तैयारी कर ली है. संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में जैव सुरक्षित वातावरण में आईपीएल कराने को लेकर बोर्ड ने सभी फ्रेंचाइजी को मौजूदा एसओपी से अवगत करा दिया है.

फ्रेंचाइजी को सौंपी गई एसओपी में कहा गया है कि खाली स्टैंड का विस्तारित ड्रेसिंग रूम के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा. सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने के लिए टीम की बैठकें बाहर ही होंगी.

यूएई में 19 सितंबर से आयोजित होने वाले आईपीएल टूर्नामेंट में इस साल कोई भी 'टॉस मस्कॉट' नहीं होगा, जिसका मतलब है कि बीसीसीआई के पास प्रायोजन से कमाई का एक और मौका नहीं होगा.

आईपीएल के दौरान खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ के परिवार उनके साथ जुड़ सकते हैं, लेकिन उन्हें टीम बस में यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. उन्हें जैव सुरक्षित माहौल में चलना होगा.

पीटीआई के अनुसार, फ्रेंचाइजी को सौंपी गई एसओपी में कहा गया है कि टीमें खाली स्टैंड का इस्तेमाल करें, जिससे सामाजिक दूरी को बनाए रखने में मदद मिलेगी. केवल आवश्यक कर्मचारी को ही मैदान में अनुमति दी जाएगी. कोई और प्रवेश नहीं कर पाएगा, इस वजह से स्टेडियम में अधिक जगह रहेगी.

साथ ही टीमों को इलेक्ट्रॉनिक टीम शीट का उपयोग करने के लिए कहा गया है. अब कप्तान प्लेइंग इलेवन सूची की हार्ड कॉपी लेकर मैदान में नहीं जा पाएंगे.

ये भी पढ़ें ... साथी क्रिकेटर की 'रंगीन मिजाजी' ... और खत्म हो गया इस दिग्गज का करियर

मेडिकल टीम (जिसमें फिजियो, मालिश करने वाले शामिल हैं) के सदस्यों को खिलाड़ी (मालिश के दौरान) के साथ शारीरिक संपर्क में आने की जरूरत पड़ी तो उन्हें पीपीई किट पहननी होगी.

खिलाड़ियों और मैच अधिकारियों को सख्ती से सलाह दी गई है कि वे मैच के दिनों के बाद अपने होटल में वापस जाकर स्नान करें.

ज्यादातर सिफारिशें वही हैं जो ICC ने दो महीने पहले अपनी SOP में बताई थी, जिसमें गेंद को चमकाने के लिए लार पर प्रतिबंध भी शामिल है. खिलाड़ी खेल से जुड़े उपकरण साझा नहीं करेंगे.

Read more!

RECOMMENDED