साइंस न्यूज़

ऐसा अंतिम संस्कार पहले कभी देखा नहीं होगा, 47 लोगों के अवशेष अंतरिक्ष में छोड़ेगी स्पेस कंपनी

aajtak.in
  • वॉशिंगटन,
  • 25 मई 2022,
  • अपडेटेड 6:57 PM IST
  • 1/10

मौत निश्चित है. एक जवान चाहता है कि उसकी मौत के बाद उसके शरीर को उसके देश की मिट्टी में मिला दिया जाए. कोई चाहता है कि मौत के बाद उसे किसी अपने के करीब दफना दिया जाए. किसी की चाहत होती है कि मौत के बाद उसकी राख को पवित्र नदी में बहा दिया जाए. मौत के बाद इंसान की इस इच्छा को सम्मान दिया जाता है. कुछ लोगों की ये इच्छा बहुत अनोखी भी होती है. जैसे, मरने के बाद अंतरिक्ष में विलीन हो जाना. (Photo: PTI)

  • 2/10

कुछ लोगों ने यह इच्छा जताई थी कि मौत के बाद भले ही वे इस दुनिया से दूर हो जाएं, लेकिन अंतरिक्ष में बने रहें. साथ ही, अपने किसी प्रियजन को खास तरह से विदा करने की चाहत रखने वाले लोग, उनके अवशेषों को अंतरिक्ष में छोड़ देना चाहते हैं. इसी इच्छा को पूरा करने के लिए एक स्पेस कंपनी सेलेस्टिस (Celestis) ने तैयारी शुरू कर दी है. यह कंपनी 5 देशों के 47 व्यक्तियों के अवशेष, पृथ्वी की कक्षा (Orbit) में छोड़ेगी. (Photo: SpaceX)

  • 3/10

कंपनी अवशेषों को एक दूरसंचार उपग्रह (Telecommunications Satellite) से जोड़ रही है, जो फ्लोरिडा के स्पेस कोस्ट से लॉन्च होगा. ये सैटेलाइट करीब एक दशक तक पृथ्वी की परिक्रमा करेंगे. Celestis इस सैटेलाइट का लाइव जीपीएस डेटा भी देगा, जिससे लोगों को यह पता चल सके कि अवशेष कहां हैं और जब भी लोग अपने प्रयजनों के अवशेषों को ट्रैक करना चाहें, वे कर सकें. (Photo: Pexels-Pixabay)

  • 4/10

सैटेलाइट के निष्क्रिय होने पर, अवशेष सैटेलाइट के साथ ही रहेंगे. जैसे ही सैटेलाइट पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करेगा, अवशेष जल जाएंगे और वातावरण में विलीन हो जाएंगे. (Photo: NASA)
 

  • 5/10

एक मां, मेलिसा केसी (Melissa Casey) का कहना है कि उनका बेटा चाहता था कि अंतिम संस्कार के बाद उसे अंतरिक्ष में भेजा जाए. यह उसका सपना था. अब यह मां अपने बेटे के अवशेष Celestis के साथ भेज रही हैं. (Photo: Pixabay)

  • 6/10

इस सप्ताह होने वाले लॉन्च से पहले, Celestis एक असामान्य अंतिम संस्कार के लिए एक कार्यक्र का आयोजन कर रहा है. यह तीन दिन का कार्यक्रम होगा, जिसमें दुनिया भर के 160 मेहमान शामिल होंगे और लॉन्च तक रहेंगे. (Photo: Getty)

  • 7/10

अंतिम संस्कार के अवशेषों में मार्जोरी डफटन (Marjorie Dufton) के अवशेष भी शामिल हैं, जिन्होंने 1950 के दशक के अंत और 1960 के दशक की शुरुआत में, नासा के साथ पहली ऑल-फीमेल मर्करी मिशन (All-female Mercury Mission) क्रू की सदस्य बनने के लिए ट्रेनिंग ली थी. लेकिन 2020 में उनकी मौत हो गई थी. (Photo: AP)

  • 8/10

मर्करी प्रोग्राम को 1962 में रद्द कर दिया गया था और मार्जोरी डफटन को कभी अंतरिक्ष की यात्रा करने का मौका नहीं मिला. उन्हें अपने जीवन में इस बात का सबसे ज़्यादा अफसोस था. अब उनके बेटे माइकल डफटन अपनी मां की इच्छा का सम्मान करते हुए, उन्हें इस तरह अंतरिक्ष में भेज रहे हैं. (Photo: Unsplash)

  • 9/10

उनके बेटे का कहना है कि अब से 10 साल के बाद, जब सैटेलाइट वायुमंडल में वापस आ जाएगी, तो बाकी सारे अवशेषों के साथ-साथ, उनकी मां भी एक तारा बन जाएंगी. (Photo: Pexels-Pixabay)

  • 10/10

Celestis इससे पहले भी ये कर चुका है. 2012 में इसने 320 लोगों के अवशेषों को ऑर्बिट में छोड़ा था. इन अवशेषों में Star Trek के एक्टर जेम्स दोहान (James Doohan) के अवशेष भी शामिल थे. 2018 में सैन फ्रांसिस्को की कंपनी एलिसियम स्पेस (Elysium Space) ने भी स्पेसएक्स फॉल्कन 9 रॉकेट के जरिए 100 लोगों के अवशेषों को अंतरिक्ष में लॉन्च किया था. इस काम के लिए कंपनी ने प्रति व्यक्ति 2500 डॉलर लिए थे. (Photo: NASA)

 

लेटेस्ट फोटो