बुरा न मानो होली है, हास्य कवि प्रवीण शुक्ला का चुनावी चकल्लस