मृत्यु दर घटाकर कम किया जा सकता है कोरोना वायरस का डर: किरण मजूमदार

बायकॉन की चेयरपर्सन किरन मजूमदार शॉ ने इंडिया टुडे से कोरोना काल में लॉकडाउन की समस्या को हल करने का सूत्र बताया. उन्होंने कहा कि अगर मृत्यु दर पर कंट्रोल कर लिया जाए तो लोगों के बीच संक्रमण का खतरा कम हो जाएगा.

किरण मजूमदार ने कहा, लॉकडाउन में मृत्यु दर घटानी होगी
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 19 मई 2020,
  • अपडेटेड 5:38 PM IST

कोरोना वायरस के कारण हुए देशव्यापी लॉकडाउन के चौथे चरण में धीरे-धीरे लोगों को ढील दी जाने लगी हैं. सरकार के इस फैसले को लेकर आलोचकों ने भी आवाज उठाना शुरू कर दिया है. वहीं, बायकॉन की चेयरपर्सन किरन मजूमदार शॉ ने इंडिया टुडे के माध्यम से कोरोना काल में लॉकडाउन की समस्या को हल करने का सूत्र बताया.

किरन मजूमदार ने इंडिया टुडे को दिए इंटरव्यू में कहा, 'लॉकडाउन के चौथे चरण में हमें मृत्यु दर (मोर्टालिटी रेट) को कम करने पर ध्यान देना चाहिए, ताकि लोग इंफेक्शन के खतरे से घबराएं नहीं. दूसरा, भारत को टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट पर खास जोर देना होगा'

पढ़ें: लॉकडाउन के नियमों में ढील कितनी खतरनाक? WHO ने दी चेतावनी

किरन मजूमदार ने कहा, 'मृत्यु दर के मामलों में जितनी जल्दी गिरावट आएगी, लोगों में उतनी जल्दी यह विश्वास पैदा होगा कि उन्हें अब इस महामारी से घबराने की जरूरत नहीं है. हालांकि, अभी तक हम सब काफी डरे हुए हैं, क्योंकि इस खतरे से बाहर लाने के लिए पूरी दुनिया के पास कोई इलाज नहीं है. लोगों में असली डर इसी का है.'

बायकॉन की चेयरपर्सन ने कहा, 'बढ़ती महामारी के बीच भारत को जीवन और आजीविका दोनों को बचाना है. इसलिए यह समझना बेहद जरूरी हो जाता है कि आप सावधानी बरतते हुए लॉकडाउन और महामारी को कैसे नियंत्रित करते हैं. लॉकडाउन के मौजूदा चरण में दोनों को एक साथ बैलेंस करना बहुत जरूरी है.'

बता दें कि भारत में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर अब 1,00,000 के पार हो चुके हैं. इनमें से अब तक 3000 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है, जबकि 39,000 से ज्यादा मरीजों की रिकवरी हुई है.

Read more!

RECOMMENDED