सर्दी में जुकाम को न करें नजरअंदाज, हार्ट अटैक का हो सकते हैं शिकार

 अगर आपको सांस लेने में दिक्कत हो रही हो, सीने में दर्द हो या कंपकंपी हो रही हो तो ये कार्डियोमायोपैथी के लक्षण भी हो सकते हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 19 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 8:13 AM IST

मौसम बदलते ही फ्लू यानी वायरल बुखार जैसी समस्याएं तेजी से फैलती हैं. सर्दियों के दिनों में कोल्ड, जुकाम और खांसी आम बात है. ज्यादातर लोग इसका घरेलू इलाज करके ही काम चला लेते हैं. कभी तो ये फ्लू जल्दी ठीक हो जाता है पर कभी-कभी ये लंबा भी खिंच सकता है. अगर आपको सांस लेने में दिक्कत हो रही हो, सीने में दर्द हो या कंपकंपी हो रही हो तो ये कार्डियोमायोपैथी के लक्षण भी हो सकते हैं.

क्या है कार्डियोमायोपैथी?

कार्डियोमायोपैथी एक ऐसी बीमारी है, जिसमें हार्ट की मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं, जिससे शरीर में ब्लड पंप होने में दिक्कत होती है. कार्डियोमायोपैथी में मांसपेशियां फैलती और सिकुड़ती हैं. यूके के डॉक्टरों ने इसे लेकर एक चेतावनी भी जारी की है. डॉक्टर्स ने कहा कि ठंड के दिनों में होने वाला फ्लू कार्डियोमायोपैथी भी हो सकता है इसलिए लोगों इन लक्षणों के प्रति सचेत रहना चाहिए.

सांस की तकलीफ और सीने में दर्द

एक रिपोर्ट के मुताबिक सर्दियों के दिनों में फ्लू से पीड़ित ज्यादातर लोगों को सांस की तकलीफ और सीने में दर्द की शिकायत होती है. इसके बावजूद 59 फीसदी लोग इसे गंभीरता से नहीं लेते और डॉक्टर के पास जाने से बचते हैं. डॉक्टर्स का कहना है कि एक निश्चित दिन के बाद भी अगर आपका फ्लू नहीं सही होता है तो आपको दिल संबंधी समस्या हो सकती है और इसे जल्द से जल्द अपने डॉक्टर को दिखाएं.

सर्दियों में होने वाली खांसी जुकाम      

ठंड के दिनों में अक्सर लोगों को सर्दी जुकाम की शिकायत हो जाती है. डॉक्टरों की सलाह है कि लोगों को फ्लू के लक्षण और दिल की बीमारियों के बीच के लक्षण को समझना चाहिए. इन लक्षणों के प्रति लोगों को जागरुक होने की जरूरत है और डॉक्टर्स के पास जरूर जाना चाहिए.

Read more!

RECOMMENDED