अल्जाइमर के मरीजों में फ्रैक्चर का खतरा अधिक, जानें वजह

अधिक पावर वाली पेनकिलर लेने से अल्जाइमर के मरीजों में फ्रैक्चर होने का खतरा बढ़ जाता है.

प्रतीकात्मक फोटो
प्रज्ञा बाजपेयी
  • नई दिल्ली,
  • 30 नवंबर 2018,
  • अपडेटेड 11:14 AM IST

हाल ही में हुई एक स्टडी कि रिपोर्ट में बताया गया है कि स्ट्रांग पेनकिलर ओपीओइड के प्रयोग से अल्जाइमर रोग से जूझ रहे लोगों में हिप फैक्चर होने का खतरा दोगुना हो जाता है.

यूनिवर्सिटी ऑफ इस्टर्न फिनलैंड के शोधकर्ताओं ने कहा, कि ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि ओपीओइड गिरने के जोखिम को बढ़ा देता है, जिससे बुजुर्गों के हिप फैक्चर का खतरा बढ़ जाता है.

अध्ययन में पाया गया कि कमजोर ओपीओइड जैसे कोडेइन और ट्रामाडोल का उपयोग हिप फैक्चर के जोखिम से जुड़ा नहीं था.

हालांकि, बुप्रेनोरफिन जैसे थोड़े मजबूत ओपीओइड के उपयोग से जोखिम दो गुना बढ़ जाता है. यह अध्यनन पैन जर्नल में प्रकाशित हुआ है, जिसमें अल्जाइमर से पीड़ित 23,100 लोगों पर अध्ययन किया गया है.

अध्ययन में यह भी पाया गया कि ओपीओइड के प्रयोग से पहले दो महीनों में जोखिम सबसे ज्यादा था और उसके बाद यह थोड़ा कम हो गया.

Read more!

RECOMMENDED