उत्तराखंड और हिमाचल में भारी बारिश, पहाड़ दरकने से कई रास्ते बंद

बद्रीनाथ जाने वाले श्रद्धालु रास्ते में फंस गए हैं. चमोली में बारिश का यलो अलर्ट जारी किया गया है. इसके साथ ही हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में भी भूस्खलन हुआ है.

बारिश की फाइल फोटो (IANS)
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 02 सितंबर 2019,
  • अपडेटेड 7:57 AM IST

उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के कारण भूस्खलन की घटनाएं जारी हैं. अलकनंदा का जलस्तर उफान पर है. बद्रीनाथ रूट पर लामबगड़ में लगातार पहाड़ दरक रहे हैं. इस वजह से बद्रीनाथ जाने वाले श्रद्धालु रास्ते में फंस गए हैं. चमोली में सोमवार को बारिश का यलो अलर्ट जारी किया गया है. इसके साथ ही हिमाचल की राजधानी शिमला में भी भूस्खलन हुआ है. इस वजह से लाहौल स्पीति में काला नाला के पास सड़क बंद हो गई.

हिमाचल के पहाड़ों में जबरदस्त बारिश हो रही है. बारिश से शिमला के कई इलाकों में भारी नुकसान हुआ है. लाहौल स्पीति में काला नाला के पास सड़क बंद हो गई है. बारिश के बीच सड़क मरम्मत का काम मुश्किल हो रहा है. हिमाचल के जिला बिलासपुर की ऊंची पहाड़ियों पर फिर तेज बरसात शुरू हो गई है. गहरी धुंध से पहाड़ियां ढंक गई हैं. धुंध के बीच लोगों को गाड़ी चलाने में भारी दिक्कत आ रही है. नंदा देवी के दर्शन को जा रहे श्रद्धालु भी मुश्किल में फंसते नजर आ रहे हैं.

उधर उत्तराखंड में मॉनसून का डर अभी खत्म नहीं हुआ है. मौसम विभाग की ओर से शनिवार को प्रदेश के चार जिलों को जारी यलो अलर्ट को कुछ दी देर बाद ऑरेंज अलर्ट में बदल दिया गया. मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए भारी बारिश की चेतावनी दी है.

मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने कहा कि उत्तराखंड की राजधानी देहरादून और सीमांत जिले पिथौरागढ़ में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है, जिसके तहत सभी संबंधित विभागों और अधिकारियों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है. इसके साथ ही गढ़वाल मंडल में आने वाले जिले जिनमें पौड़ी गढ़वाल, चमोली, हरिद्वार और कुमाऊं मंडल में आने वाले जिले बागेश्वर, अल्मोड़ा, नैनीताल और उधम सिंह नगर के लिए भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है.

Read more!

RECOMMENDED