देहरादून के रूई गोदाम में लगी भीषण आग, मासूम की जलकर मौत

आग लगने के बाद गोदाम से 3 बच्चों को किसी तरह सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया था लेकिन राहुल की किस्मत ने उसका साथ नहीं दिया और आग ने गोदाम को अपनी चपेट में ले लिया. आग से झुलसे राहुल को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

सांकेतिक तस्वीर
aajtak.in
  • ,
  • 28 मई 2019,
  • अपडेटेड 6:51 PM IST

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में एक गद्दे और रूई के गोदाम में भीषण आग लगने से 12 साल के मासूम की जलकर मौत हो गई. आग लगने के बाद कुछ लोग तो गोदाम से सुरक्षित बाहर निकलने में कामयाब हो गए लेकिन 12 साल का राहुल अंदर ही फंसा रह गया. गोदाम के अंदर लगी आग की लपटें इतनी तेज थीं कि राहुल को बाहर निकालना मुश्किल हो गया और दम घुटने और आग से झुलसने की वजह से मासूम ने दम तोड़ दिया

आग लगने के बाद गोदाम से 3 बच्चों को किसी तरह सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया था लेकिन राहुल की किस्मत ने उसका साथ नहीं दिया और आग ने गोदाम को अपनी चपेट में ले लिया. आग से झुलसे राहुल को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

गोदाम में आग लगने की सूचना पर दमकल की कई गाड़ियां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद उस पर काबू पाया. गोदाम में आग लगने का शुरुआती कारण बिजली का शार्ट सर्किट होना बताया जा रहा है.

उत्तराखंड में बढ़ती गर्मी से जंगल में आग लगने की आशंका

उत्तराखंड में गर्मी भी लगातार बढ़ती जा रही है और आने वाले तीन से चार दिनों तक लोगों को इससे राहत मिलने की उम्मीद नहीं है. मैदानी इलाकों में आने वाले तीन-चार दिनों में पारा 42 डिग्री तक पहुंच सकता है. मौसम विभाग की माने तो गर्मी अपना सितम पहाड़ों पर भी जमकर बरसाएगी.

गर्मी बढ़ने से उत्तराखंड की जंगलों में भी आग की घटनाओं में और ज्यादा इजाफा होने की आशंका है. उत्तराखण्ड के जंगल पिछले कई दिनों से लगातार जल रहे हैं इस पर ये अलर्ट लोगों की चिंता को और बढ़ा रहा है.

जंगलों को आग से बचाने के लिए वन विभाग तैयारियों का दावा करता रहा है लेकिन ऐसी घटनाओं पर काबू नहीं पाया जा सका है. बीते 19 दिनों से कुमाऊं क्षेत्र में आने वाला बागेश्वर जिला बुरी तरह से धधक रहा है पर न तो कोई इसे देखने वाला है और न कोई सुनने वाला है. तिहरी, चमोली, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग का भी कुछ यही हाल है इस बार मानसून भी उत्तराखंड में देरी से पहुंचेगा.

Read more!

RECOMMENDED