राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए हरिद्वार से जाएगा गंगाजल, VHP करेगी रवाना

विश्व हिंदू परिषद हर की पौड़ी से गंगा जल और मिट्टी को विधिवत रवाना करेगी. बता दें कि बहुप्रतीक्षित यह कार्यक्रम काफी विधि-विधान से पूर्ण होने वाला है. इसीलिए इसमें कई नदियों से मिट्टी मंगवायी जा रही है.

पांच अगस्त को होगा राम मंदिर का भूमि पूजन
दिलीप सिंह राठौड़
  • हरिद्वार,
  • 27 जुलाई 2020,
  • अपडेटेड 2:22 AM IST

  • हरि की पौड़ी से भेजा जाएगा गंगाजल व गंगा की मिट्टी
  • वीएचपी इसे सोमवार को अयोध्या के लिए करेगी रवाना

पांच अगस्त को अयोध्या में रामलला के मंदिर का भूमि पूजन होना है. इस कार्यक्रम में पीएम मोदी भी शामिल हो रहे हैं. आपको बता दें कि राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए गंगा जल और गंगा नदी की मिट्टी हरिद्वार से भेजी जानी है. सोमवार को विश्व हिंदू परिषद इसे अयोध्या के लिए रवाना करने वाला है.

जानकारी के मुताबिक विश्व हिंदू परिषद हर की पौड़ी से गंगा जल और मिट्टी को विधिवत रवाना करेगी. बता दें कि बहुप्रतीक्षित यह कार्यक्रम काफी विधि-विधान से पूर्ण होने वाला है. इसीलिए इसमें कई नदियों से मिट्टी मंगवायी जा रही है.

यह भी पढ़ें: भूमिपूजन पर अयोध्या न आएं, गांव-घर में ही मनाएं उत्सव, ट्रस्ट की भावुक अपील

बताया जा रहा है कि हरिद्वार के अलावा प्रयागराज के संगम इलाके की मिट्टी भी भूमि पूजन के लिए मंगवायी गयी है. जानकारी के मुताबिक मंदिर निर्माण के भूमि पूजन में तीर्थराज प्रयागराज के त्रिवेणी संगम के जल का इस्तेमाल भी किया जाना है. गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती के संगम का जल लाने की जिम्मेंदारी भी विश्व हिंदू परिषद को ही दी गई है. यहां आपको यह भी बता दें कि विश्व हिंदू परिषद ने राम मंदिर आंदोलन में भी अग्रणी भूमिका निभायी थी.

घर बैठे देख सकेंगे राम मंदिर का भूमि पूजन

श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट का कहना है कि पीएम नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम में शामिल होना एक ऐतिहासिक क्षण होगा. इसके साथ ही ट्रस्ट ने देश की जनता से भी कई अपील की है. श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट ने आधिकारिक बयान में कहा है, 'जिस दिन पीएम नरेंद्र मोदी अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर का निर्माण शुरू करने के लिए पूजन कर रहे होंगे, वह आजाद भारत के इतिहास का सर्वाधिक ऐतिहासिक क्षण होगा. इस कार्यक्रम को प्रसारण कई चैनल लाइव प्रसारित करेंगे.'

यह भी पढ़ें: ज्यादा ऊंचाई, ज्यादा शिखर और ज्यादा एरिया, पुराने डिजाइन से इतना भव्य होगा राम मंदिर

ट्रस्ट ने कहा है कि हम दुनिया भर के सभी पूज्य संत-महात्मा और राम भक्तों से अपने परिवार, दोस्तों और समाज के साथ सुबह 11:30 बजे से 12:30 बजे के बीच सामूहिक पूजन और भजन-कीर्तन करने की अपील करते हैं. साथ ही एक बड़े हॉल या सभागार में लाइव वेबकास्ट के लिए व्यवस्था की जा सकती है. ताकि अयोध्या का पूजन कार्यक्रम समाज के लोग देख सकें.

Read more!

RECOMMENDED