यूपी में स्वच्छता मिशन के सैनिटेशन एक्सपर्ट ने दिया इस्तीफा

राज्य मिशन निदेशक को लिखे पत्र में मो. तकी ने डोर टू डोर कलेक्शन और शौचालय के निर्माण के डाटा का काम देखने वाले अनूप द्विवेदी पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है. तकी ने इस्तीफा देने के कारणों में ऑफिस के खराब माहौल को भी ठहराया है.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल)
नंदलाल शर्मा
  • लखनऊ,
  • 16 सितंबर 2017,
  • अपडेटेड 6:01 PM IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वाकांक्षी अभियान स्वच्छ भारत मिशन को उत्तर प्रदेश में कई बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है. 15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक चलाए जा रहे 'स्वच्छता ही सेवा' अभियान को यूपी में बड़ा झटका लगा है. राज्य में स्वच्छता मिशन के एक्सपर्ट मोहम्मद तकी ने दुर्व्यवहार और प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए पद से इस्तीफा दे दिया है.

राज्य मिशन निदेशक को लिखे पत्र में मो. तकी ने डोर टू डोर कलेक्शन और शौचालय के निर्माण के डाटा का काम देखने वाले अनूप द्विवेदी पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है. तकी ने इस्तीफा देने के कारणों में ऑफिस के खराब माहौल को भी ठहराया है.

उन्होंने लिखा है कि शौचालय के निर्माण, उनका सत्यापन, ओ. डी. एफ, डोर टू डोर कलेक्शन और अन्य संबंधित समस्त डाटा की सूचना अनूप द्विवेदी की ओर से उपलब्ध नहीं कराया जाता है. और मांगने पर मखौल उड़ाया जाता है.

तकी ने अनूप द्विवेदी पर उच्च अधिकारियों के सामने छवि खराब करने और बदनाम करने का आरोप लगाया है. उन्होंने लिखा है कि ऐसे अपमानजनक माहौल में काम करना संभव नहीं है.

हालांकि इस मामले में अनूप द्विवेदी की ओर से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

Read more!

RECOMMENDED