UP: स्टेशन पर ट्रेन खड़ी कर सोने चला गया ड्राइवर, ढाई घंटे तक इंतजार करते रहे यात्री

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर रेलवे स्टेशन में शुक्रवार को बालामऊ पैसेंजर ट्रेन के ड्राइवर ने नींद पूरी ना होने के कारण ट्रेन चलाने से इनकार कर दिया, जिसके कारण यह ट्रेन करीब ढाई घंटे स्टेशन पर ही खड़ी रही. जब उसकी नींद पूरी हो गई तब वह ट्रेन लेकर गया.

नींद नहीं हुई पूरी को ड्राइवर ने कर दिया ट्रेन चलाने से मना. नींद नहीं हुई पूरी को ड्राइवर ने कर दिया ट्रेन चलाने से मना.
विनय पांडेय
  • शाहजहांपुर,
  • 23 जनवरी 2022,
  • अपडेटेड 3:43 PM IST
  • नींद पूरी नहीं हुई तो ट्रेन ड्राइवर ने गाड़ी चलाने से किया इनकार
  • करीब ढाई घंटे तक स्टेशन पर ही खड़ी रही बालामऊ पैसेंजर ट्रेन

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को एक अजब नजारा देखने को मिला. यहां बालामऊ पैसेंजर ट्रेन के ड्राइवर ने नींद पूरी ना होने के कारण ट्रेन चलाने से इनकार कर दिया, जिसके कारण यह ट्रेन करीब ढाई घंटे स्टेशन पर ही खड़ी रही. और यात्रियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा.

दरअसल, बालामऊ पैसेंजर गुरुवार को साढ़े तीन घंटे देरी से रात करीब एक बजे शाहजहांपुर रेलवे स्टेशन पहुंची. बालामऊ से जो ड्राइवर ट्रेन लेकर आया था, उसे ही सुबह यह ट्रेन बालामऊ लेकर जानी थी. हालांकि रात को इतनी देर से आने के कारण चालक की नींद पूरी नहीं हुई तो उसने शुक्रवार की सुबह 7 बजे ट्रेन ले जाने से मना कर दिया. उसने कहा कि जब उसकी नींद पूरी हो जाएगी तब ही वह ट्रेन लेकर जाएगा.

शाहजहांपुर रेलवे अधीक्षक अमरेंद्र गौतम ने बताया, ''रोजा जंक्शन में रात्रि विश्राम के बाद सुबह यही ड्राइवर ट्रेन को वापस लेकर जाता है. रात्रि विश्राम पूरा ना होने के कारण ट्रेन ड्राइवर ने सुबह ट्रेन ले जाने से मना कर दिया था, जब उसकी नींद पूरी हो गई तब वह ट्रेन लेकर गया.''

ढाई घंटे तक इंतजार करते रहे यात्री.

रेलवे के विस्टाडोम कोच वाली ट्रेन को मिला जबरदस्त रिस्पॉन्स

वहीं, दूसरी तरफ पर्यटन को बढ़ाने के उद्देश्य से रेलवे द्वारा हाल ही में शुरू की गई विस्टाडोम कोच वाली ट्रेनों को जबरदस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है. हजारों यात्री इस ट्रेन के जरिए से यात्रा कर रहे हैं. सेंट्रल रेलवे ने जानकारी दी है कि तीन महीने के भीतर ही 20 हजार अधिक यात्री विस्टाडोम ट्रेन से यात्रा कर चुके हैं, जिससे सेंट्रल रेलवे को काफी कमाई हुई है.

रिपोर्ट्स के अनुसार, अक्टूबर से दिसंबर, 2021 के बीच में तीन महीने के दौरान सेंट्रल रेलवे के तहत चलने वाली विस्टाडोम ट्रेन से 20,407 यात्रियों ने यात्रा की है. इस दौरान सेंट्रल रेलवे को 2.38 करोड़ रुपये की कमाई हुई है. छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस-मडगांव-CSMT जनशताब्दी एक्सप्रेस में 100 फीसदी ऑक्युपेंसी रही, जिससे 1.40 करोड़ रुपये का रेवन्यू जेनरेट हुआ है. वहीं, इसके अलावा, CSMT पुणे- CSMT डेक्कन एक्सप्रेस में 90.43 फीसदी की ऑक्युपेंसी रही. इस दौरान 7,185 यात्रियों ने यात्रा की और 50.96 लाख रुपये की कमाई हुई.

 

Read more!

RECOMMENDED