अयोध्या में दीपोत्सव शुरू, 5 लाख 51 हजार दीयों से जगमगाएगा शहर

राम की नगरी अयोध्या के दीपोत्सव में इस बार अवध विश्वविद्यालय पूरी निष्ठा से लगा हुआ है. लगभग 6000 छात्र-छात्राएं और शिक्षक इस उत्सव को सार्थक बनाने में जुटे हुए हैं. छात्र और शिक्षक 12 घाटों पर दीये सजाने में जुटे हैं.

अयोध्या में दीपोत्सव की होगी धूम (IANS) अयोध्या में दीपोत्सव की होगी धूम (IANS)
aajtak.in
  • अयोध्या,
  • 26 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 4:39 PM IST

  • अयोध्या और 12 घाटों में 5 लाख 51 हजार दीये जलाए जाएंगे
  • राम के लीला चरित्र से जुड़ी शोभायात्रा निकाली गई

  • रामनगरी में 7 देशों की रामलीला लोगों के आकर्षण का केंद्र रहेगी

अयोध्या में दीपोत्सव शुरू हो गया है. शाम को अयोध्या और सभी घाटों पर पांच लाख 51 हजार दीये जलाए जाएंगे. इस भव्य आयोजन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंच चुके हैं. इससे पहले यहां कई झांकियां निकाली गईं.

7 देशों की रामलीला

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि श्रीराम-सीता का रामकथा पार्क में हेलीकॉप्टर से प्रतीकात्मक अवतरण और भरत मिलाप का कार्यक्रम होगा. सवा चार बजे से चार बजकर 40 मिनट तक रामकथा पार्क आगमन पर श्रीराम-जानकी का पूजन-वंदन, आरती और श्रीराम का प्रतीकात्मक राज्याभिषेक होगा.

शाम 6 बजे तक परियोजनाओं का शिलान्यास, लोकार्पण और अतिथियों का संबोधन होगा. इस बार 7 देशों की रामलीला भी लोगों के आकर्षण का केंद्र बनेगी. राज्य सरकार ने इस पूरे कार्यक्रम को राज्य मेला घोषित कर दिया है, जिससे यह आगे भी बिना रुके चलता रहे.

जुटे हैं 6 हजार छात्र-छात्राएं

राम की नगरी अयोध्या के दीपोत्सव में इस बार अवध विश्वविद्यालय पूरी निष्ठा से लगा हुआ है. लगभग 6000 छात्र-छात्राएं और शिक्षक इस उत्सव को सार्थक बनाने में जुटे हुए हैं. छात्र और शिक्षक 12 घाटों पर दीये सजाने में जुटे हैं. उनकी नजर शनिवार की शाम दीपक जलाने को लेकर विश्व रिकॉर्ड बनाने की है.

अवध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो मनोज दीक्षित ने बताया कि हर बार की तरह इस बार भी अयोध्या दीपोत्सव का एक रिकॉर्ड बनेगा. इसमें छात्र-छात्राएं पूरे मनोयोग से लगे हुए हैं. हमारे विवि के अलावा कई महाविद्यालय के लोग भी इसमें सहयोगी भूमिका में रहेंगे.

इस बार दीपोत्सव में पिछली बार से दोगुने लोग, तकरीबन 6 हजार वॉलंटियर लगाए गए हैं, जो 12 घाटों पर 4 लाख 25 हजार दीपक सजाए जा रहे हैं. साथ ही साकेत महाविद्यालय में सजे 11 रथों पर भगवान श्रीराम से जुड़े 11 प्रसंगों पर आधारित श्रीरामलीला कमेटियों की तैयारियां भी पूरी हैं.

किस घाट पर कितने दीये

लक्ष्मण घाट: 48,000

वैदेही घाट: 22,000

श्रीराम घाट: 30,000

दशरथ घाट: 39,000

भरत घाट: 17,000,

शत्रुघ्न घाट: 17,000

उमा-नागेश्वर-मांडवी घाट: 52,000

सुतकीर्ति घाट: 40,000

कैकेई घाट: 40,000

सुमित्रा घाट: 40,000

कौशल्या घाट: 40,000

उर्मिला घाट: 40,000

राम की पैड़ी पर बनेगा वर्ल्ड रिकॉर्ड

वहीं राम की पैड़ी पर 5,51,000 दीये जलाकर विश्व रिकार्ड बनाया जाएगा . इसके लिए लंबा वक्त चाहिए. यही वजह है कि सैकड़ों छात्र-छात्राएं दीपकों को व्यवस्थित तौर पर घाट पर सजा रहे हैं. बाकायदा एक चौकोना बनाया गया है, जिसमें 100 दीये रखे जाएंगे और घाट के दोनों तरफ दीये लगाए जा रहे हैं.

मर्यादा पुरुषोत्तम की नगरी अयोध्या दीपोत्सव की पूर्वसंध्या पर शुक्रवार को सरयू के सभी घाट सतरंगों के बिजली बल्बों से जगमगा रहे हैं. घाटों पर पर्यटकों का जमवाड़ा लगा हुआ है. हनुमानगढ़ी, रामदास की छावनी, दशरथ महल, रामवल्लभ कुंज, बड़े भक्त हनुमान समेत चिन्हित सभी बड़े मंदिरों में जबर्दस्त लाइटिंग की गई है.

साथ ही आयोजन को सफल बनाने में ढाई हजार बच्चे भगवान राम के जीवन पर आधारित चित्रकारी को अंतिम रूप दे रहे हैं. कोई भगवान राम को अपने तरीके से रूप दे रहा है तो कोई उनके शस्त्र धनुष और तीर बना रहा है. पहली बार बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं ने चित्रकारी की है, जिसे प्रदर्शनी के तौर पर भी दीपोत्सव में दिखाया जाएगा.

Read more!

RECOMMENDED