अखिलेश का योगी पर हमला, बोले- प्रदेश की बड़ी आबादी दहशत में, क्या यही रामराज्य है?

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखनऊ में पार्टी मुख्यालय में एकत्र कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि बीजेपी सरकार के कारण अराजकता व्याप्त है. प्रदेश की बड़ी आबादी दहशत में है.

अखिलेश यादव ने कहा- फिर समाजवादी सरकार बनेगी (फाइल फोटो: PTI)
शिवेंद्र श्रीवास्तव
  • लखनऊ,
  • 21 फरवरी 2020,
  • अपडेटेड 12:00 AM IST

  • अखिलेश यादव ने यूपी की योगी सरकार पर किए कई हमले
  • अखिलेश ने सीएम के बयान को बताया, गरिमा के प्रतिकूल

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार के कारण अराजकता व्याप्त है. प्रदेश की बड़ी आबादी दहशत में है. दबंगों ने गरीबों का जीना दुश्वार कर रखा है. बीजेपी ने नैतिकता को ताक पर रखकर असत्य को स्थापित करने की प्रतियोगिता शुरू कर दी है.

अखिलेश ने आगे कहा कि बीजेपी के अहंकार से ऊबी जनता का भरोसा समाजवादी पार्टी और उसकी सरकार के समय हुए तमाम विकास कार्यों पर है. वर्ष 2022 के विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी के 351 विधायकों के साथ जनता के बल पर फिर समाजवादी सरकार बनेगी.

सीएम योगी के बयान पर अखिलेश का निशाना

आपको बता दें कि अखिलेश यादव लखनऊ में पार्टी मुख्यालय में एकत्र कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे. सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि 'जो सड़क पर आया था मरने के लिए आया था' मुख्यमंत्री जी का यह कथन पद की गरिमा के प्रतिकूल निम्नस्तरीय है. यह भाषा अलोकतांत्रिक है. जितने लोग मरे हैं वे पुलिस की गोली से मरे हैं. समाजवादी सरकार में इसके दोषी अधिकारियों और जिम्मेदार लोगों को सजा दी जाएगी.

यह भी पढ़ें: यूपी में बजट पर CM योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादव आमने-सामने

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी राज में नागरिकों के अधिकारों को कुचला जा रहा है. लोकतंत्र में असहमति का अधिकार है. बीजेपी नागरिकों के अधिकारों को कुचलना अपनी बहादुरी मानती है. लोकतंत्र में धमकी और अहंकार के लिए कोई स्थान नहीं हो सकता है. अहंकार लोकजीवन को लांछित करता है. बीजेपी सत्ता का दुरूपयोग कर रही है.

अखिलेश यादव ने पूछे कई सवाल

योगी आदित्यनाथ पर अपना हमला जारी रखते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री धोखे की राजनीति करते हैं. वन ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था का दावा किया गया है मगर कैसे हासिल किया जाएगा इसकी कोई रूपरेखा नहीं आई है. इसी तरह किसानों की आय 2022 तक दोगुनी कैसे होगी? किसानों को फसलों की डेढ़ गुना उत्पादन लागत कैसे मिलेगी?

अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था दिन-पर-दिन बिगड़ती जा रही है. पुलिस हिरासत में सबसे ज्यादा हत्याएं उत्तर प्रदेश में हुई हैं. फर्जी एनकाउंटर पर मानवाधिकार आयोग की नोटिस यूपी सरकार को मिली है. ग्राम ढोकरी प्रयागराज में महिला और उसके पति को मिट्टी का तेल डालकर जला दिया गया. बच्चियों से बलात्कार की खबरें रोज ही मिल रही हैं. क्या यही रामराज्य है?

यह भी पढ़ें: योगी के बजट पर बरसे अखिलेश, कहा- अब एक्सप्रेस-वे-लैपटॉप नहीं सिर्फ गोली की बात

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार को गौमाता की भी चिंता नहीं. गौशालाओं में चारा-पानी के अभाव में वे मर रही हैं. शहरों, खेतों और सड़कों पर सांड़ों का साम्राज्य है. आवारा पशु किसानों की फसल खा रहे हैं. बीजेपी सरकार दावा करती है कि दो लाख करोड़ निवेश आया है इसकी सच्चाई क्या है? निवेश के आंकड़े क्यों छुपाए जा रहे हैं. एमओयू के बाद कहां कौन से उद्योग लगे? एमओयू को ही निवेश नहीं मान लेना चाहिए. उन निवेशकों को दी गई सुविधाओं, राहत इन्सेन्टिव व सब्सिडी का ब्यौरा कहां है? इसे सार्वजनिक करना चाहिए.

अखिलेश ने किए विकास कार्यों के नए वादे

अखिलेश यादव ने कहा कि जीवन में बदलाव लाने वाले काम समाजवादी सरकार में हुए थे. जो मेडिकल कॉलेज समाजवादी सरकार में बने थे उन्हें ही अपना बताने में बीजेपी संकोच नहीं कर रही है. एक्सप्रेस-वे और मेट्रो जैसी कोई चीज बीजेपी नहीं बना पाई है. समाजवादी सरकार पुनः बनने पर और भी अच्छी सुविधायुक्त अस्पताल बनाएंगे. चिकित्सा सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी. जनहित के विकास कार्यों का विस्तार किया जाएगा.

अंत में यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी की मजबूती के लिए हम सबकी एकजुटता एवं निष्ठा आवश्यक है. जनता का भरोसा कायम रखना है. हमें सघन जनसंपर्क और सौहार्दपूर्ण व्यवहार के साथ गांव-गांव, घर-घर समाजवादी पार्टी की नीतियों, कार्यक्रम और समाजवादी सरकार की उपलब्धियों को पहुंचाने के कार्यक्रम में अभी से लग जाना है.

Read more!

RECOMMENDED