अब RSS करेगा प्रणब मुखर्जी फाउंडेशन के काम में सहयोग!

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी RSS के एक कार्यक्रम में शामिल हो चुके हैं. अब उनके और आरएसएस के बीच का रिश्ता आगे बढ़ने जा रहा है. आरएसएस के कार्यकर्ता प्रणब मुखर्जी फाउंडेशन के सामाज‍िक काम में सहयोग करेंगे.

RSS प्रमुख मोहन भागवत के साथ प्रणब मुखर्जी (फाइल फोटो)
दिनेश अग्रहरि
  • नई दिल्ली,
  • 31 अगस्त 2018,
  • अपडेटेड 11:29 AM IST

हाल में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को अपने कार्यक्रम में बुला चुका राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ऐसा लगता है कि उनके साथ अपने रिश्ते को और आगे बढ़ाना चाहता है. यह रिश्ता दोतरफा है, प्रणब मुखर्जी भी शायद ऐसा चाहते हैं, इसीलिए आरएसएस हरियाणा में प्रणब मुखर्जी फाउंडेशन के काम में सहयोग करने जा रहा है.

इकोनॉमिक टाइम्स के अनुसार, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी रविवार को हरियाणा के सीएम मनोहर लाल के साथ अपने फाउंडेशन के कई कार्यक्रमों का उद्घाटन करेंगे. प्रणब मुखर्जी गुरुग्राम के हरचंदपुर और नयागांव जाएंगे और प्रशिक्षण, नवाचार, वेयरहाउस, वाटर एटीएम जैसे कई प्रोजेक्ट का उद्धाटन करेंगे. वह इन दोनों गांवों के उद्यमियों और सरपंच से मुलाकात करेंगे. दोनों गांवों के कार्यक्रमों में सीएम मनोहर लाल भी रहेंगे.  

खबर के अनुसार, इस कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी ने आरएसएस के 15 सीनियर और जूनियर, दोनों स्तर के कार्यकर्ताओं को आमंत्रित किया है. इन कार्यकर्ताओं ने कुछ दिनों पहले ही प्रणब मुखर्जी से उनके आवास पर मुलाकात की थी. प्रणब ने इस दौरान बताया कि उनका फाउंडेशन हरियाणा में कुछ गांवों को गोद लेक साफ पानी मुहैया कराने के लिए प्रयास कर रहा है.

आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने उन्हें भरोसा दिया कि वे इस मामले में सभी तरह के जमीनी सहयोग मुहैया कराएंगे. कार्यकर्ताओं ने उन्हें आरएसएस के इतिहास और संघर्ष पर एक कॉफी टेबल बुक भी भेंट की.

कार्यकर्ताओं ने बताया, 'वह जो कुछ भी कर रहे हैं, वह एक सामाजिक कार्य है और आरएसएस की हरियाणा में अच्छी मौजूदगी है. हम उनकी हरसंभव मदद करेंगे. संघ के लिए काम महत्वपूर्ण है राजनीति नहीं.'

प्रणब मुखर्जी के एक सहयोगी ने इस बारे में कहा, 'अभी ऐसा कुछ पुख्ता नहीं हुआ है कि आरएसएस और मुखर्जी किसी प्रोजेक्ट पर साथ काम करेंगे. लेकिन वह जो कुछ कर रहे हैं, उसमें सभी को शामिल करना चाहते हैं.'

प्रणब मुखर्जी के फाउंडेशन की शुरुआत इसी साल मार्च में हुई थी. इसमें उनकी पूर्व सचिव ओमिता पॉल और पूर्व आईएएस अधिकारी थॉमस मैथ्यू भी काम कर रहे है.

Read more!

RECOMMENDED