PM मोदी की भतीजी से झपटमारी करने का दूसरा आरोपी भी गिरफ्तार

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी दमयंती बेन के साथ झपटमारी के मामले में दूसरे आरोपी की गिरफ्तारी दिल्ली के सुल्तानपुरी से हुई है. आरोपी का नाम बादल बताया जा रहा है.

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी
अरविंद ओझा
  • नई दिल्ली,
  • 13 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 10:30 PM IST

  • सुल्तानपुरी से हुई गिरफ्तारी
  • घड़ी और अन्य दस्तावेज बरामद

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी दमयंती बेन के साथ हुई झपटमारी मामले में पुलिस ने दूसरे आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है. दमयंती बेन के साथ झपटमारी के दूसरे आरोपी की गिरफ्तारी दिल्ली के सुल्तानपुरी से हुई है.

आरोपी का नाम बादल बताया जा रहा है. आरोपी बादल के पास से दमयंती बेन की घड़ी और अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं. इससे पहले पुलिस मामले में नोनू नाम के एक आरोपी को गिरफ्तार कर चुकी है. नोनू के पास भी पीएम मोदी की भतीजी का कुछ सामान बरामद हुआ था. उसे हरियाणा के सोनीपत से गिरफ्तार किया गया था.

नोनू की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने दूसरे आरोपी को भी जल्द गिरफ्तार करने का दावा किया था. पुलिस ने अपने इस दावे के महज चंद घंटों बाद ही आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया. गौरतलब है कि पीएम मोदी की भतीजी दमयंती बेन का पर्स झपटकर स्कूटी सवार बदमाश फरार हो गए थे.

घटना शनिवार की सुबह राजधानी के पॉश इलाके सिविल लाइंस के गुजरात भवन के सामने हुई थी. बताया जाता है कि घटना के समय दमयंती दिल्ली पहुंची ही थीं और ऑटो से उतरकर गुजरात भवन जा रही थीं. ऑटो से उतरते ही स्कूटी सवार बदमाश दमयंती का बैग झपटकर फरार हो गए.

दमयंती ने पुलिस से शिकायत करने के साथ ही स्वयं को पीएम मोदी की भतीजी बताया. इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने सीसीटीवी फूटेज खंगाले और घटना के 48 घंटे के अंदर ही आरोपियों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार करने के साथ ही सारा सामान भी बरामद कर लिया.

संजय सिंह ने साधा था केंद्र पर निशाना

पीएम की भतीजी के उपराज्यपाल के आवास के करीब हुई छिनैती की घटना ने सियासी रंग भी लिया. दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने बढ़ते अपराध के लिए केंद्र सरकार पर निशाना साधा था. संजय सिंह ने सरकार पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ओर से पत्र लिखे जाने के बावजूद कोई कदम नहीं उठाने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि केजरीवाल सरकार के लगवाए सीसीटीवी कैमरों के सहारे ही आरोपियों की पहचान और गिरफ्तारी हो सकी.

Read more!

RECOMMENDED