NIA के DG बोले- बांग्लादेशियों की आड़ में आतंकी संगठन JMB सक्रिय

एनआईए के डीजी वाईसी मोदी ने कहा है कि अब तक एनआईए ने जितने केस की जांच की है उसमें नब्बे फीसदी कनविक्शन है. नए एनआईए ऐक्ट से बहुत लाभ मिला है.

NIA के डीजी वाईसी मोदी की प्रेस कॉन्फ्रेंस (तस्वीर-ANI)
aajtak.in
  • ,
  • 14 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 2:16 PM IST

  • बांग्लादेशियों की आड़ में JMB भारत में पसार रहा पांव
  • 125 संदिग्धों की सूची राज्यों को सौंपी गई, जांच जारी

बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) देश में तेजी से पांव पसार रहा है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के डीजी वाईसी मोदी ने कहा कि जेएमबी बांग्लादेशियों की आड़ में पांव पसार रहा है.

वह असम, झारखंड, महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक में सक्रिय है. 125 संदिग्धों की सूची राज्यों को सौंपी गई है. उन्होंने कहा कि एनआईए ने पिछले दस सालों में आईएसआईएस, जेहादी कार्रवाई, टेरर फंडिंग सहित कई क्षेत्रों में जांच की है.

एनआईए के डीजी वाईसी मोदी ने कहा कि अब तक एनआईए ने जितने केस की जांच की है उसमें नब्बे फीसदी कनविक्शन है. नए एनआईए ऐक्ट से बहुत लाभ मिला है. संघीय जांच एजेंसी होने के नाते अन्य देशों और देश की ही पुलिस के साथ एनआईए का अच्छा तालमेल है. उन्होंने कहा कि हमें खासकर आतंकी घटनाओं पर बारीक से बारीक चीजों पर ध्यान देने की जरूरत है.

इसी के साथ एनआईए के आईजी आलोक मित्तल ने कहा कि एंटी इंडिया एक्टीविटीज के लिए सिख फॉर जस्टिस के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. सोशल मीडिया पर वे सिख युवाओं का कट्टरपंथी बना रहे हैं. इस मामले में यूपी के शामली से बीते साल 5 लोगों लोगों की गिरफ्तारी हुई थी. सभी गिरफ्तार आरोपी रेफरेंडम 2020 का कैंपेन चला रहे थे.

पंजाब में आतंकी गतिविधियों को पुनर्जीवित करने के लिए सीमा पार से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. हत्या के 8 मामलों में 16 लोगों को गिरफ्तार किया गया, जो एक समूह विशेष को निशाना बना रहे थे. इन हत्याओं में खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का हाथ है. इस संगठन को यूके, इटली, फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया से फंड में मिल रहा था.

टेरर फंडिंग के मुख्य मामले में मुख्य नेताओं को गिरफ्तार किया जा चुका है साथ ही कई शीर्ष नेताओं के खिलाफ चार्जशीट तैयार की गई है. किसी को अब तक बेल नहीं दी गई है. उन्हें पाकिस्तान फंड किए जा रहे थे.

Read more!

RECOMMENDED