CCD के मालिक की खुदकुशी पर बोलीं ममता बनर्जी- देश के लिए खतरनाक संकेत

कारोबारी वीजी सिद्धार्थ की खुदकुशी पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चिंता जताई है. वर्तमान राजनीतिक माहौल के बारे में ममता बनर्जी ने कहा कि सभी राजनीतिक दल हॉर्स ट्रेडिंग के कारण डरे हुए हैं और लोगों को राजनीतिक बदले के कारण परेशान भी किया जा रहा है.

वीजी सिद्धार्थ की मौत पर ममता बनर्जी ने केंद्र पर साधा निशाना (Getty Images)
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 31 जुलाई 2019,
  • अपडेटेड 8:14 PM IST

  • 36 घंटे से ज्यादा समय तक तलाश के बाद मिला वीजी सिद्धार्थ का शव
  • ममता के अलावा अन्य नेताओं ने भी उनकी खुदकुशी पर सवाल उठाए

कर्ज में फंसे होने के कारण कैफे कॉफी डे (सीसीडी) चेन के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ की खुदकुशी पर निराशा जताते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि अगर इस तरह से उद्योगपति देश छोड़ने लगे या फिर खुदकुशी करने लगे तो यह देश के लिए बेहद खतरनाक संकेत की तरह है. भविष्य में कृषि या उद्योग क्षेत्र में यह नहीं होना चाहिए.

वीजी सिद्धार्थ की कथित खुदकुशी के बाद विपक्षी दलों की ओर से इस पर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं. इसी कड़ी में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, 'अगर सभी उद्योगपति इस तरह से खुदकुशी करने लगे तो यह देश के लिए बेहद खतरनाक संकेत है. मैं बहुत बुरा महसूस कर रही हूं और भविष्य में कृषि या उद्योग क्षेत्र में ऐसा नहीं होना चाहिए.'

इससे पहले ममता बनर्जी ने फेसबुक पोस्ट पर कहा, 'मैं वीजी सिद्धार्थ से जुड़ी हाल की घटना से बेहद दुखी हूं. मैं वाकई में बेहद दुखी हूं और यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है.' उन्होंने कहा, 'सिद्धार्थ ने जो कुछ कहा उससे लगता है कि वह कई एजेंसियों की ओर से परेशान किए जाने और लगातार दबाव बनाए जाने से बेहद परेशान थे. इस कारण वह अपना बिजनेस शांति से नहीं चला पा रहे थे. जिसका वह मुकाबला नहीं कर सके.'

ममता बनर्जी ने वर्तमान व्यवस्था पर निशाना साधते हुए कहा, 'मैंने कई अन्य सोर्सेज से सुना कि देश में कई दिग्गज उद्योगपति लगातार दबाव में हैं. कुछ ने देश छोड़ दिया और कुछ बाहर जाने पर लगातार विचार कर रहे हैं.'

सिद्धार्थ के जरिए देश में वर्तमान राजनीतिक माहौल के बारे में उन्होंने कहा, 'सभी राजनीतिक दल हॉर्स ट्रेडिंग के कारण डरे हुए हैं और लोगों को राजनीतिक बदले के कारण परेशान भी किया जा रहा है.'

ममता बनर्जी ने अपने पोस्ट में कहा, 'मेरी सरकार से अपील है कि जिन लोगों ने आपको चुना. आप उन्हें शांतिपूर्वक तरीके से काम करने दें. राजनीतिक प्रतिशोध की भावना और एजेसिंयां भविष्य में देश को बर्बाद न कर दे. मैं सिद्धार्थ के परिजनों को सांत्वना देती हूं. मैं इस खबर से बेहद दुखी हूं.'

पिछले 36 घंटे से ज्यादा समय तक लापता रहे कैफे कॉफी डे के मालिक वीजी सिद्धार्थ का शव आज यानी बुधवार सुबह कर्नाटक के नेत्रावती नदी से मिला. सिद्धार्थ के लापता होने के बाद से उनके आत्महत्या करने की आशंका जताई जा रही थी.

कॉफी डे एंटरप्राइजेज लिमिटेड (सीडीईएल) शेयर बाजार में लिस्टेड कंपनी है और यह कॉफी चेन से लेकर लॉजिस्ट‍िक्स, हॉस्पिटलिटी और वित्तीय सेवाओं तक के कारोबार में लगी हुई है. कॉफी डे एंटरप्राइजेज लिमिटेड के प्रमोटर्स की कंपनी में हिस्सेदारी 53.93% है. 30 जून, 2019 तक के आंकड़ों के मुताबिक प्रमोटर्स ने इसके 75.70% शेयर कर्जदाताओं के पास गिरवी रखे हैं.

सिद्धार्थ की सीडीईएल में करीब 32.75 फीसदी हिस्सेदारी थी और इसका 71.4 फीसदी हिस्सा उन्होंने गिरवी रखा हुआ था. एक साल पहले ऐसी स्थ‍िति नहीं थी. 2018 में सिद्धार्थ ने कंपनी के अपने शेयरों का सिर्फ 38.66 फीसदी हिस्सा ही गिरवी रखा था.

Read more!

RECOMMENDED