दलित छात्र पर स्कूल में हमला, पीठ से लेकर कमर तक ब्लेड से काट डाला

तमिलनाडु के मदुरै में एक दलित छात्र पर उसके सहपाठी ने ही ब्लेड से हमला कर दिया. पीड़ित छात्र का कसूर मात्र ये था कि स्कूल में उसके बैग को किसी ने छिपा दिया था, वो अपना बैग खोज रहा था, इसकी दौरान स्कूल में एक छात्र ने उसपर जातिगत टिप्पणी की उसपर हमला कर दिया. पुलिस ने आरोपी नाबालिग छात्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.

पीड़ित छात्र के पीठ पर ब्लेड से हमला (फोटो-आजतक)
शालिनी मारिया लोबो
  • मदुरै,
  • 14 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 11:29 AM IST

  • दलित छात्र पर स्कूल में हमला
  • सहपाठी ब्लेड से पीठ पर किया हमला
तमिलनाडु के मदुरै में एक दलित छात्र पर उसके सहपाठी ने ही ब्लेड से हमला कर दिया. पीड़ित छात्र का कसूर मात्र ये था कि स्कूल में उसके बैग को किसी ने छिपा दिया था, वो अपना बैग खोज रहा था, इसकी दौरान स्कूल में एक छात्र ने उसपर जातिगत टिप्पणी की और उसपर हमला कर दिया. पुलिस ने आरोपी नाबालिग छात्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.

पुलिस के मुताबिक पीड़ित दलित छात्र 9वीं कक्षा में पढ़ता है . शुक्रवार शाम को बच्चे जब स्कूल में थे इसी दौरान किसी ने उसका बैग छिपा दिया. बैग खोजते हुए छात्र को पता चला कि उसका बैग उसी के सहपाठी महेश्वरन ने छिपाया है. पीड़ित जब महेश्वरन से अपना बैग मांगने गया तो आरोपी ने उसे गालियां दी और उसकी जाति को लेकर टिप्पणी की.

गर्दन के नीचे से कमर तक चीरा

इस बीच दोनों छात्रों के बीच लड़ाई बढ़ गई. महेश्वरन ने ब्लेड से छात्र पर हमला कर दिया. तस्वीरों में पीड़ित छात्र की पीठ पर गर्दन से लेकर कमर तक ब्लेट से जख्म से निशान हैं. ब्लेड के निशान काफी गहरे हैं.

SC/ST एक्ट के तहत मुकदमा

पीड़ित छात्र को तुरंत अस्पताल ले जाया गया. जहां डॉक्टरों ने उसकी हालत खतरे से बाहर बताई है. पीड़ित छात्र का कहना है कि सिर्फ अपना बैग मांगने गया था, लेकिन आरोपी छात्र उसे गालियां देने लगा. स्कूल प्रशासन ने मामले की जांच शुरू कर दी है. इस मामले में पुलिस ने आरोपी छात्र के खिलाफ धारा-294, 324 और एससी, एसटीएक्ट की धारा  3(1)(R)(S) और  3(2)(VA) के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

घटना के बाद पीड़ित छात्र के परिवार में खौफ है. पीड़ित छात्र के पिता ने कहा कि उन्हें अपने बेटे की सुरक्षा को लेकर चिंता हो रही है. उन्होंने कहा है कि आरोपी छात्र की काउंसिलिंग की जानी चाहिए. स्कूल प्रशासन ने पीड़ित परिवार को भरोसा दिया है कि उनके बच्चे की सुरक्षा का पूरा ख्याल रखा जाएगा.

Read more!

RECOMMENDED