WB: पूर्वी रेलवे की EMU लोकल सर्विस का इस्तेमाल कर सकेगा Amazon

भारतीय रेलवे बेहद खास शुरुआत करने जा रहा है, वह अपने नए पायलट प्रोजेक्ट के तहत ई-कॉमर्स कंपनियों को अपनी EMU सर्विसेज का इस्तेमाल करने की अनुमति दे दी है. पूर्वी रेलवे ने Amazon को अपना माल ले जाने के लिए सियालदह से दनकुनी EMU लोकल सर्विस में वेंडर कंपार्टमेंट का इस्तेमाल करने की इजाजत भी दे दी है.

सांकेतिक तस्वीर
सिद्धार्थ तिवारी
  • नई दिल्ली,
  • 21 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 9:48 PM IST

  • अब रेलवे की EMU सर्विसेज का इस्तेमाल कर सकेंगी ई-कॉमर्स कंपनियां
  • पूर्वी रेलवे की नॉन पीक ऑवर्स में Amazon को सामान ले जाने की अनुमति

भारतीय रेलवे बेहद खास शुरुआत करने जा रहा है, वह अपने नए पायलट प्रोजेक्ट के तहत ई-कॉमर्स कंपनियों को अपनी EMU सर्विसेज का इस्तेमाल करने की अनुमति दे दी है. पूर्वी रेलवे ने Amazon को अपना माल ले जाने के लिए सियालदह से दनकुनी EMU लोकल सर्विस में वेंडर कंपार्टमेंट का इस्तेमाल करने की इजाजत भी दे दी है.

हालांकि ई-कॉमर्स कंपनियां रेलवे की इस सुविधा का लाभ नॉन-पीक ऑवर्स (दिन में 11 बजे से शाम 4 बजे तक का समय) में ही कर सकेंगी.

भारतीय रेलवे ने अपने पायलट प्रोजेक्ट के तहत नॉन पीक ऑवर्स में ई-कॉमर्स कंपनियों को अपने सामानों की खेप ले जाने की अनुमति दे दी है.

तीन महीने की सुविधा

रेलवे की यह पायलट प्रोजेक्ट शुरू में तीन महीने की अवधि के लिए है, जहां प्रतिदिन कुल 7 मीट्रिक टन खेप ले जाने की अनुमति दी गई है. ईएमयू सेवा में बुकिंग कंसाइनमेंट की यह पायलट परियोजना भारतीय रेलवे में अपनी तरह की पहली योजना है.

इस सेवा से भारतीय रेल और ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन दोनों को ही मुनाफा होगा. इस तरह की सेवा देने से रेलवे को बिना किसी खास मशक्कत से कमाई का एक नया जरिया मिल गया है, जबकि अमेजन अपने सामान को कम समय में इधर से उधर ले जा सकता है.

Read more!

RECOMMENDED