स्वच्छता मिशन को साकार करने में जुटे देश के धर्मगुरु

इस अभियान का शुभारंभ केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और जीवा समिट में शामिल होने आए धर्मगुरुओं ने किया. इस मौके पर जम्मू एवं कश्मीर के मंत्री और स्थानीय विधायक भी उपस्थित थे.

जल, स्वच्छता और स्वास्थ्य पर चर्चा हुई
पंकज श्रीवास्तव
  • लेह,
  • 02 सितंबर 2016,
  • अपडेटेड 11:16 PM IST

भारत सरकार के स्वच्छता मिशन को साकार करने में अब देश के धर्मगुरु भी जुट गए हैं. लेह में 28 से 31 अगस्त तक चले ग्लोबल इंटरफेथ वाश एलाइंस (GIWA) इंडिया में जल, स्वच्छता और स्वास्थ्य पर चर्चा हुई. इस अभियान का शुभारंभ केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और जीवा समिट में शामिल होने आए धर्मगुरुओं ने किया. इस मौके पर जम्मू एवं कश्मीर के मंत्री और स्थानीय विधायक भी उपस्थित थे.

कार्यक्रम के दौरान डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि उनका मंत्रालय प्लास्टिक, बायो और इलेक्ट्रॉनिक कचरे के बेहतर प्रबंधन के लिए कई प्रोजेक्ट पर कार्य कर रहा है. प्लास्टिक के कचरे से कम कीमत के टॉयलेट बनाने पर कार्य किया जा रहा है. जीवा समिट में देशभर से आए विभिन्न धर्मों के धर्मगुरुओं ने देश को गंदगी व पानी की कमी जैसी समस्याओं से निजात दिलाने के लिए शपथ भी ली. इस दौरान केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर, परमार्थ निकेतन आश्रम के अध्यक्ष स्वामी चिदानंद जी महाराज, आरएसएस के प्रचारक इंद्रेश कुमार, शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक, ज्ञानी गुरुबचन सिंह, मौलाना लुकमान तारापुरी, महामंडलेश्वर स्वामी हरी चेतनानंद, भीखू संघसेना समेत अन्य लोग भी मौजूद थे.

संविधान में शामिल हो स्थानीय भाषा कैलास मानसरोवर का रास्ता लेह से खुलवाने और स्थानीय भाषा को संविधान में शामिल किए जाने की भी मांग की गई. धर्मगुरुओं की इस मांग पर डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि वह इसे केंद्र सरकार तक पहुंचाने का काम करेंगे. साथ ही उन्होंने आश्वासन दिया कि वह माननीय प्रधानमंत्री से इस पर विचार करने का आग्रह करेंगे.

अब हम कोई जिन्ना पैदा नहीं होने देंगे जीवा समिट के दौरान शिया धर्मगुरु डा. कल्बे सादिक ने कहा कि इस देश में अब हम कोई जिन्ना पैदा नहीं होने देंगे. उन्होंने कहा कि हमारे बुजुर्गो से मुल्क के बंटवारे के रूप में गलती हुई जिसका हम प्रायश्चिनत चाहते हैं. उन्होंने कहा कि हमने पाकिस्तान नहीं पापिस्तान बनने दिया लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. डॉ. कल्बे सादिक ने कहा कि अब सरकार से गुजारिश है कि वह हमारे नौजवानों की बेहतर तालीम की व्यवस्था कर दे. उन्होंने मुस्लिम नौजवानों से शिक्षा पर ध्यान देने की अपील की और कहा कि इसके माध्यम से ही तरक्की संभव है. डा. कल्बे सादिक ने कहा कि स्वच्छ समाज व स्वच्छ भारत का सपना निश्चित रूप से साकार होगा. उन्होंने कहा कि हमें स्वच्छ भारत के सपने को साकार करने के लिए खुद से इसकी शुरुआत करनी होगी और बदलाव का हिस्सा बनना होगा.

इंसानियत नहीं, पैसा चलता है जीवा समिट में महाबोधि इंटरनेशनल मेडिटेशन सेंटर के संस्थापक अध्यक्ष भिक्खू संघसेना ने दिल्ली एयरपोर्ट पर अपने साथ हुए एक घटना का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार लेह के लिए एक सामान्य किराया तय कर दें ताकि एयरलायंस वाले मनमाना किराया न वसूल सके. उन्होंने अपना एक अनुभव साझा किया. एकबार वो दिल्ली से लेह आ रहे थे. सर्दी के दिनों में लेह में सब्जी वगैरह की किल्लत हो जाती है तो उन्होंने अपने साथ सब्जी समेत कुछ और सामान ले रखी थी. एयरपोर्ट पर अधि‍कारियों ने उनसे कहा कि सामान का वजन निर्धारित वजन से ज्यादा है लिहाजा उन्हें इसके लिए अतिरिक्त शुल्क देना होगा. संघसेना ने अध‍िकारियों से लेह की स्थिेति का जिक्र किया और कहा कि इंसानियत के नाते उन्हें वह सामान बिना अतिरिक्त शुल्क के ले जाने दिया जाए. संघसेना के इस अनुरोध पर वहां के अध‍िकारियों ने कहा कि यहां इंसानियत नहीं पैसा चलता है.

Read more!

RECOMMENDED