CRPF Attack: पुलवामा अटैक पर बोले फारूक, इन आतंकियों ने जीना हराम कर दिया

Pulwama Attack फारूक ने कहा कि आतंक में शामिल लोगों को एक्सपोज करने का काम भारत सरकार को करना चाहिए. जो लोग ऐसे काम कर रहे हैं, उन्हें पकड़िये और हमें इन चीजों से निजात दिलाइए. हम थक गए हैं ये मरने और मारने वालों को देखकर.

पुलवामा अटैक के बाद आतंकवादियों पर जमकर बरसे फारूक अब्दुल्ला.
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 14 फरवरी 2019,
  • अपडेटेड 12:10 AM IST

कश्मीर के पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले के बाद नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने आजतक से बातचीत में कहा कि ये बहुत बड़ा हमला हुआ है. इतने सालों में मैंने भी ऐसा हमला नहीं देखा.

फारूक अब्दुल्ला ने पुलवामा हमले के लिए कहा कि ये इंटेलिजेंस की नाकामी है. 50 गाड़ियों में 2500 जवान जाएं और उन पर हमला हो जाए, ये बहुत गंभीर बात है.

हम खुद आतंकवाद के शिकार हैं. इन आतंकवादियों ने हमारा जीना हराम कर दिया है. जो ये हमले कर रहे हैं, उन्हें कड़ी सजा मिलनी चाहिए. ये हमारे अमन को खत्म कर रहे हैं, हमारे बच्चों की जिंदगी खत्म कर रहे हैं. ऐसे लोगों को एक्सपोज करना चाहिए.

फारूक ने कहा कि आतंक में शामिल लोगों को एक्सपोज करने का काम भारत सरकार को करना चाहिए. जो लोग ऐसे काम कर रहे हैं, उन्हें पकड़िये और हमें इन चीजों से निजात दिलाइए. हम थक गए हैं ये मरने और मारने वालों को देखकर.

फारूक ने खुफिया तंत्र फेल होने पर कहा कि कश्मीर में ये लोग क्या कर रहे हैं. वहां सीआरपीएफ, सेना, पुलिस सबकी इंटेलिजेंस है. क्यों नहीं दहशतगर्दों को पकड़ा जा रहा है. हम कब तक बर्दाश्त करेंगे. अनंतनाग का चुनाव क्यों रोक दिया गया. ऐसी घटनाओं से ही आतंकवादियों की हिम्मत बढ़ती है.

स्थानीय युवाओं के दहशतगर्दों का साथ देने के सवाल पर फारूक ने कहा कि पत्थरबाजों का न तो मैंने कभी साथ दिया  है और न ही हमारी जमात ने इनका साथ दिया है. इन्होंने हमारा जीना हराम कर दिया है. ये वतन के दुश्मन हैं. दुनिया सितारों के ऊपर जा रही है और हम जमींदोज हो रहे हैं. ये कब तक चलेगा.

मैं उम्मीद करता हूं कि कल सुरक्षा पर होने वाली बैठक में कोई अच्छा फैसला होगा. कश्मीर में आतंक फैला वालों को पकड़िए. गुनहगारों को पकड़िये. उसमें कोई विरोध नहीं करेगा. बेगुनाहों को पकड़ेंगे तो विरोध होगा.

वहीं फारूक अब्दुल्ला के बेटे उमर अब्दुल्ला ने केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के कश्मीर के नेताओं पर दिए गए बयान पर कड़ी आपत्ति की. उमर ने कहा कि उन्हें अपने बयान पर शर्म आनी चाहिए. कश्मीर की मुख्यधारा के नेताओं ने पीएम मोदी का बयान आने से पहले ही पुलवामा हमले की खुलकर निंदा की है. अब्दुल्ला ने सिंह पर शहीद जवानों की शहादत पर राजनीति करने का आरोप लगाया.

Read more!

RECOMMENDED