नागरिकता बिल: राहुल-अखिलेश का हल्ला बोल, RJD बोली- देश को इजरायल नहीं बनने देंगे

राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल आज पेश होगा. कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल समेत कई विपक्ष की पार्टियां बिल का विरोध कर रही हैं.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना
जितेंद्र बहादुर सिंह
  • नई दिल्ली,
  • 11 दिसंबर 2019,
  • अपडेटेड 11:06 AM IST

  • आज राज्यसभा में आएगा नागरिकता संशोधन बिल
  • कांग्रेस, टीएमसी, सपा, राजद कर रही है विरोध
  • राहुल गांधी ने ट्वीट कर सरकार को घेरा

राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल (CAB) आज पेश होगा. कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल समेत कई विपक्ष की पार्टियां बिल का विरोध कर रही हैं. राज्यसभा में बिल पेश होने से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी, सपा नेता अखिलेश यादव और राजद नेता मनोझ झा ने मोदी सरकार पर निशाना साधा और सड़क से लेकर सदन तक आंदोलन करने की चेतावनी दी.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि नागरिकता बिल से मोदी-शाह सरकार ने पूर्वोत्तर की पहचान को मिटाने का प्रयास किया है. यह पूर्वोत्तर के लोगों के जीवन जीने के तरीके और भारत के विचार पर एक आपराधिक हमला है. मैं पूर्वोत्तर के लोगों और उनकी सेवा के लिए तत्पर हूं.

वहीं, राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता मनोज झा ने कहा कि आरजेडी इस बिल का पूरी तरीके से विरोध करेगी. हम देश को इजरायल बनने नहीं देंगे. इस बिल में धर्म के आधार पर जो टू नेशन थ्योरी दी गई है वह गलत तरीका है. इस तरीके का आरजेडी पुरजोर विरोध संसद और सड़क पर करेगी.

समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने भी ट्वीट कर भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोला. अखिलेश ने ट्वीट किया कि भाजपा के CAB जैसे कदम ऐतिहासिक नहीं बल्कि ऐतिहासिक भूल साबित होंगे.

आपको बता दें कि राज्यसभा में इस बिल पर 6 घंटे बहस होनी है. बुधवार को दोपहर 12 बजे बहस शुरू होगी. इस दौरान विपक्ष की ओर से आनंद शर्मा, मनोज झा, कपिल सिब्बल, संजय सिंह जैसे नेता बोलेंगे.

अभी तक जो आंकड़ा सामने आ रहा है उससे साफ दिख रहा है कि मोदी सरकार को राज्यसभा में इस बिल का पास कराने में कोई दिक्कत नहीं आएगी. बहुमत के लिए राज्यसभा में 121 का आंकड़ा चाहिए, जबकि मोदी सरकार के साथ इस बिल के लिए अबतक 124 से अधिक वोट हो सकते हैं. बिल पेश होने से पहले ही TDP, YSR कांग्रेस ने ऐलान किया है कि वह इसके समर्थन में मतदान करेंगे.

Read more!

RECOMMENDED