मद्रास HC की पूर्व चीफ जस्टिस पर भ्रष्टाचार के आरोप, CJI ने दिए जांच के आदेश

मद्रास हाईकोर्ट की पूर्व चीफ जस्टिस वीके ताहिलरमानी के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों पर भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने सीबीआई को जांच करने के लिए हरी झंडी दिखा दी है.  

मद्रास हाई कोर्ट की पूर्व चीफ जस्टिस वीके ताहिलरमानी (फाइल फोटो- Aajtak)
संजय शर्मा
  • चेन्नई ,
  • 30 सितंबर 2019,
  • अपडेटेड 12:45 PM IST

  • जस्टिस ताहिलरमानी मामले में CJI ने दिए जांच के आदेश
  • जांच आईबी रिपोर्ट के आधार पर हो: CJI गोगोई

मद्रास हाई कोर्ट की पूर्व चीफ जस्टिस वीके ताहिलरमानी के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों पर भारत के मुख्य न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई ने सीबीआई को जांच करने के लिए हरी झंडी दिखा दी है. CJI ने कहा है कि कानून के मुताबिक एजेंसी जांच आगे बढ़ा सकती है.

सीजेआई गोगोई ने जांच एजेंसी सीबीआई से कहा है कि वह जस्टिस वीके ताहिलरमानी के मामले में कानून के मुताबिक कार्रवाई करे. जांच आईबी की रिपोर्ट के आधार पर होगी.

जस्टिस ताहिलरमानी पर दो फ्लैटों की खरीद में गड़बड़ी, मूर्ति चोरी के एक मामले में बनी हाईकोर्ट की बेंच को भंग करने और तमिलनाडु के एक मंत्री से उनके नजदीकी संबंध होने का आरोप है. आईबी (इंटेलीजेंस ब्यूरो) ने इस बारे में 5 पन्नों की एक रिपोर्ट जमा कर दी है.

आईबी रिपोर्ट के मुताबिक

रिपोर्ट में कहा गया है कि जस्टिस ताहिलरमानी ने चेन्नई में दो फ्लैट खरीदे हैं और ये रुपये उनके व उनके परिजनों के अकाउंट में भेजे गए. ये भी आरोप हैं कि उन्होंने तमिलनाडु के एक मंत्री के कहने पर मूर्ति चोरी के मामले की सुनवाई कर रही हाईकोर्ट की बेंच को खत्म कर दिया था.

Read more!

RECOMMENDED